आईआईएमटी कॉलेज समूह में मना विश्व पृथ्वी दिवस

आईएमटी

आईएमटी

ग्रेटर नोएडा शहर में स्थित आईआईएमटी कॉलेज समूह में विश्व पृथ्वी दिवस के अवसर पर लोगों को जागरूक करने के लिए अभियान चलाया गया। इसमें मिट्टी बचाओं के साथ- साथ वायु प्रदूषण, जलवायु परिवर्तन आदि मुद्दों पर जोर दिया गया। अभियान में मुख्य अतिथि के रूप में भारतीय प्रदूषण नियंत्रण संघ के निदेशक आशीष जैन ने भाग लिया।

इस दौरान उन्होंने कहा कि मिट्टी की गुणवत्ता और मिट्टी में पोषक तत्वों व सूक्ष्म जीवों का कम होना जिसके वजह से मिट्टी की उर्वरा क्षमता पर गंभीर प्रभाव पड़ा है। वैज्ञानिकों का मानना है कि हमारी मिट्टी की ऊपरी 19 इंच की परत, 45 से 60 वर्षों में अपनी गुणवत्ता काफी हद तक खो देगी जिसकी वजह से अन्न के उत्पादन में भारी कमी आ जाएगी और अगर ऐसा होता है तो हर देश में युद्ध की स्थिति हो सकती।

इस दौरान कार्यक्रम में पर्यावरण प्रेमी विनोद सोलंकी ने भी अपने विचार रखे। उन्होंने कहा कि अगर धरा को बचाना है तो पृथ्वी पर पेड़ लगाने जरूरी है नहीं तो प्राकृतिक संतुलन बिगड जाएगा। इस अभियान को सफल बनाने के लिए सभी कॉलेज के छात्र और फैक्लटी ने भाग लिया। कॉलेज इस मौके पर सत्यवीर सिंह शालू शर्मा, अनुपम कुमार सैनी, मोना खोसला सहित कॉलेज के कई लोग मौजूद रहे।