सूरज की तपिस ने किया बेहाल, खानपान का रखें ख्याल

बेहाल

बेहाल

राजधानी में पिछले कई दिनों से आसमान से आग बरस रही है। बुधवार को एक बार फिर पारा 38 पार पहुंचने से गर्मी ने जीना मुहाल कर दिया। घरों में पंखे और कूलर भी राहत नहीं दे पाए तो वहीं बाहर धूप और गर्म हवा ने परेशान किया।
अमूमन ज्यादा गर्मी झेलने का आदी नहीं होने से दूनवासियों को मौजूदा गर्मी बेहाल कर रही है। मौसम विभाग की रिपोर्ट के मुताबिक, बुधवार को दून का अधिकतम तापमान सामान्य से तीन डिग्री अधिक 38.78 डिग्री रिकॉर्ड किया गया, जो इस साल का अब तक का दूसरा अधिकतम तापमान है।

15 मई को 39.6 डिग्री तापमान दर्ज किया गया था। सूरज के तेवर और गर्म हवाओं ने लोगों को गर्मी से बेहाल कर दिया। बुधवार को राजधानी की सड़कों पर दिनभर आवाजाही भी सामान्य दिनों के मुकाबले कम रही। दूसरी ओर, मौसम विज्ञानियों ने अगले कुछ दिनों तक तापमान में बढ़ोतरी के साथ ही गर्मी बढ़ने की संभावना जताई है। ऐसे में अधिकतम तापमान 40 डिग्री पहुंचने के आसार हैं। पिछले कुछ दिनों से गर्मी बढ़ने के साथ ही डायरिया, उल्टी-दस्त के साथ पीलिया व टाइफाइड जैसी बीमारियों ने एक बार फिर हमला बोल दिया है। इनसे पीड़ित सैकड़ों मरीज दून अस्पताल, कोरोनेशन और गांधी शताब्दी अस्पताल पहुंच रहे हैं।

डॉक्टरों के मुताबिक, अस्पताल की ओपीडी में 50 फीसदी से अधिक मरीज ऐसे आ रहे हैं, जो डायरिया, पीलिया, टायफाइड, उल्टी-दस्त से पीड़ित हैं। कई मरीजों की हालत गंभीर भी हो जाती, जिन्हें ओपीडी में जांच के बाद अस्पताल में भर्ती कराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि खानपान में एहतियात न बरतने और गर्मी के चलते लोगों की सेहत खराब हो रही है। ऐसे में सावधान रहने की जरूरत है।

ये बरतें सावधानियां

खरबूजा-तरबूज जैसे फलों का अधिक सेवन करें। नींबू पानी पीएं। खानपान का विशेष ध्यान रखें, हल्का और सुपाच्य भोजन करें। अधिक से अधिक मात्रा में फलों के जूस के साथ पानी का इस्तेमाल करें। दिन में घर से बाहर जब भी निकलें, सिर को ढंककर जाएं। बाहर से घर आने के बाद तत्काल फ्रिज का ठंडा पानी न पीएं। डायरिया होने की स्थिति में दूध, डेयरी से बने उत्पादों का इस्तेमाल न करें। सड़क के किनारे खुले में बिक रहीं खाने-पीने की चीजों का सेवन न करें। बाजार से जो भी फल लाएं, उसे बगैर धोए न खाएं। बासी खाना कतई ना खाएं। नाश्ता या खाना खाकर ही बाहर जाएं।