अग्निपथ की विरोध में बिहार के नरकटियागंज और बेतिया में हिंसक प्रदर्शन

विरोध

विरोध

अनुराग दुबे।
अग्निपथ स्कीम को लेकर देश के अलग-अलग राज्यों में विरोध प्रदर्शन हो रहा है। बिहार, उत्तरप्रदेश, हरियाणा इत्यादि राज्यों में प्रदर्शन विकराल रूप ले चुका है। बिहार के पश्चिम चंपारण, पूर्वी चम्पारण, रक्सौल, नवादा, मोतिहारी, नरकटियागंज, बेतिया, सुगौली, आरा इत्यादि जगहों पर सार्वजनिक संपत्ति का काफी नुकसान हुआ है। बेतिया में प्रदर्शनकारियों ने रेलवे स्टेशन पर काफी तोड़-फोड़ किया है। रेलवे स्टेशन की कायाकल्प ही पलट गयी है। सरकार की स्कीम पर गुस्साए छात्रों ने मोदी विरोधी नारे भी खुब लगाए। बेतिया रेलवे स्टेशन पर प्रशासन की मौजुदगी थी लेकिन रेलवे प्रशासन कुछ नही कर पाई। रेलवे प्रशासन के सामने ही रेलवे की संपत्तियों का नुकसान हो रहा था, लेकिन प्रदर्शनकारियों को नही रोका जा सका। वही नरकटियागंज में प्रदर्शन करने वालों ने शहर के फ्लाई ओवर ब्रीज को बलॉक कर दिया था। ओवर ब्रीज पर प्रदर्शन करने वालों ने जम कर नारे बाजी की साथ ही मोदी विरोधी नारे भी लगे। ओवर ब्रीज पर हंगामा करने वालों में अधिकतर छात्र सेना में जाने की तैयारी करने वाले थे, और TOD का विरोध करने वाले थे। प्रदेश की नीतिश सरकार ने एक्सन लेते हुए आज बिहार के 15 जिलों में इंटरनेट सेवा को बंद करने का आदेश दिया है। प्रदेश सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका भी दायर की है। याचिका में मांग यह कि एसआईटी का गठन हो और प्रदर्शन में कैसे उग्र रुप देखने को मिला इसकी जाँच हो। बेतिया में प्रदर्शनकारियों ने रेलवे स्टेशन पर तोड़-फोड़ करने के साथ-साथ शहर के बस स्टैंड सहित रास्ते में दिखे बस, ट्रक सहित अन्य वाहनों पर भी हमला किया। रेलवे ढाले के पास बिहार पुलिस के जवानों और प्रदर्शनकारियों के बीच जमकर पत्थरबाजी हुई। बिहार के रास्ते चलने वाली तमाम ट्रेनें इससे प्रभावित हुई हैं। रेलवे ने एक बुलेटिन जारी करके बताया है कि बिहार में किस रेलखंड पर यातायात को बाधित किया गया है। उपद्रवियों के द्वारा विरोध कि यह कड़ी भागलपुर से शुरुआत हुई है बक्सर गया और मोतिहारी तक हर जगह बवाल ही बवाल देखने को मिल रहा है।