लखीमपुर हिंसा और तीनों कृषि कानूनों के विरोध में किसानों का “रेल रोको” आंदोलन, आज सुबह 10 बजे से शाम 4 बजे तक चलेगा आंदोलन

केंद्र सरकार द्वारा लाए गए तीन कृषि कानूनों के विरोध में पिछले 1 साल से भी अधिक समय से किसान संगठन दिल्ली के सभी बॉर्डरों पर धरना दिए बैठे हुए हैं। उनकी मांग है कि जब तक सरकार तीनों कृषि कानूनों को रद्द नहीं कर देती तब तक उनका प्रदर्शन चलता रहेगा।

इस बीच संयुक्त किसान मोर्चा ने देश के सभी किसानों से रेल रोको आंदोलन का आवाह्न किया है। इसके तहत आज पूरे देश में सुबह 10 बजे से शाम 4 बजे तक रेल सेवा बाधित करने का प्लान बनाया गया है।

भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष राकेश टिकैत ने किसानों के रेल रोको आंदोलन पर ज्यादा जानकारी देते हुए बताया कि किसानों का यह आंदोलन शांतिपूर्ण ढंग से होगा। उन्होंने कहा कि ये अलग-अलग ज़िलों में अलग-अलग जगह होगा। पूरे देश में वहां के लोगों को पता रहता है ​कि हमें कहां ट्रेन रोकनी है। उन्होंने सरकार से कृषि कानूनों को लेकर हुई वार्ता के सवाल पर बताया कि भारत सरकार ने अभी हमसे कोई बात नहीं की है।

बता दें, किसान संगठनों के आवाह्न पर अमृतसर के देवीदासपुरा गांव में प्रदर्शनकारी रेलेव ट्रैक पर बैठ गए हैं और उसका मार्ग बाधित करने की कोशिशों में जुट गए हैं। ऐसी ही तस्वीरें हरियाणा के बहादुरगढ़ से सामने आ रही हैं, यहां भारी संख्या में किसानों का जत्था रेलवे ट्रैक की ओर बढ़ रहा।

वहीं, किसानों के इस आवाह्न को लेकर यूपी के सभी जिलों में अलर्ट जारी कर दिया गया है। प्रदेश की राजधानी लखनऊ में पुलिस ने धारा 144 लागू कर दी है। पुलिस की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक, कोई बी व्यक्ति अगर सामाजिक व्यवस्था को बिगाड़ने की कोशिश करता है उसके खिलाफ त्वरित कार्रवाई की जाएगी।

मालूम हो, बीती 3 अक्टूबर को उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में किसानों और भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच हिंसक झड़प हो गई थी। इस दौरान केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा पर आरोप लगा था कि उन्होंने और उनके साथियों ने प्रदर्शन कर रहे किसानों पर गाड़ियां चढ़ा दी थीं जिससे 4 किसानों समेत 8 लोगों की मौत हो गई थी।

गौरतलब है, किसान नेताओं ने इसके विरोध में आज रेल रोको आंदोलन का आवाह्न किया है। उनकी मांग है जब तक केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा को बर्खास्त नहीं किया जाता तब तक यह आंदोलन चलता रहेगा।