सर्वश्रेष्ठ फिल्म अवार्ड से नवाज़े गए रजनीकांत

फिल्म

67वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार का शानदार आग़ाज़ दिल्ली के विज्ञान भवन में किया गया। इन पुरुस्कारों की घोषणा मार्च में ही कर दी गई थी। जिसके बाद अब पुरुस्कार समारोह का आयोजन विज्ञान भवन में जारी है और विजेताओं को पुरुस्कृत किया जा रहा है । विजेताओं को उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू स्वर्ण कमल एवं रजत कमल, शॉल और ईनाम की राशि देकर सम्मानित कर रहे हैं। दिग्गज अभिनेता रजनीकांत को दादा साहब फाल्के अवार्ड दिया गया। मनोज बाजपेयी, कंगना रणौत और धनुष को भी बेहतरीन अभिनय के लिए बेस्ट एक्टर्स अवार्ड से सम्मानित किया गया। दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की फिल्म छिछोरे को सर्वश्रेष्ठ हिंदी फिल्म का पुरस्कार मिला। सुशांत सिंह राजपूत की फिल्म छिछोरे के निर्देशक नितेश तिवारी भी सम्मानित किये गये।
अभिनेत्री कंगना अपने मां और पिता के साथ अवॉर्ड लेने पहुंचीं। सुपरस्टार रजनीकांत को 51वें दादासाहेब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित किये जाने पर प्रशंसकों में ख़ुशी ज़ाहिर करते हुए तालियाँ बजाईं।

अन्य पुरुस्कार इस प्रकार हैं –
सर्वश्रेष्ठ फिल्म फ्रेंडली स्टेट – सिक्किम
सिनेमा पर बेस्ट किताब – संजय सूरी द्वारा रचित ‘अ गांधियन अफेयर: इंडियाज क्यूरियस पोरट्रायल ऑफ लव इन सिनेमा’
सर्वश्रेष्ठ फिल्म समीक्षक – सोहिनी चट्टोपाध्याय
बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर – विजय सेतुपति, सुपर डीलक्स
बेस्ट एक्ट्रेस – कंगना रनौत
बेस्ट एक्टर – मनोज बाजपेयी और धनुष
बेस्ट डायरेक्शन – बहत्तर हूरें
बेस्ट चिल्ड्रन फिल्म – कस्तूरी