पाकिस्तान के लिए जासूसी करने वाले गिरफ्तार

पाकिस्तान

पाकिस्तान

अनुराग दुबे : पाकिस्तान की खुफीया एजेंसी ISI के लिए काम करने वाले दो भारतीय जासूस पंजाब पुलिस के हत्थे लगे हैं। बीते कुछ दिनों पहले एयरफोर्स के एक जवान के उपर जासूसी करने का आरोप लगा था। आरोप यह था कि इस ऑफिसर ने ISI को भारतीय सेना से संबंधित संवेनशील सूचना को लीक किया है। उस ऑफिसर की पत्नी के बैंक खाते में गैर लेन-देन को देखा गया था। लेकिन अब पंजाब पुलिस ने दो ऐसे शख्स को गिरफ्तार किया है, जिसने ISI के लिए जासूसी का काम किया है। ये दोनों अभियुक्तों ने सेना के कैंप, सेना की आने-जाने वाली गाडियों के नक्शे को भेजा है। ये दोनों अभियुक्त बंगाल और बिहार के रहने वाले हैं।
बिहार निवासी अभियुक्त का नाम मोहम्मद शमशाद है साथ ही बंगाल का रहने वाला अभियुक्त का नाम जाफिर रियाज है। मोहम्मद शमशाद अजनाला रोड स्थित मीराकोट चौक पर रहता था। वही इसका दुसरा मित्र जाफिर रियाज फिलहाल तो पाकिस्तान में रहता था। ये दोनों सेना की एक-एक गतिविधियों पर नजर रख रहे थे और उन गतिविधियों को मोबाईल के माध्यम से कैप्चर करके ISI को भेजने का काम करते थे। फिलहाल ये दोनों पंजाब पुलिस के गिरफ्त में हैं। सुत्रों के मुताबिक जाफिर रियाज 2005 में पाकिस्तान गया था। वहाँ पर उसने लाहौर की एक लडकी से शादी किया था। शादी के बाद वह आवेश खान के सम्पर्क में आया। आवेश खान ISI के लिए काम करता था। पैसो की लालच में आकर वह फिर से भारत में आया। भारत के पंजाब प्रांत के अमृतसर में रहने लगा। उसने बताया कि वह 15 सालों से अमृतसर में रह रहा है। फिर उसने मोहम्द शमशाद को पैसों का लालच देकर अपने साथ मिलाया। शमशाद नींबू पानी बेचने का काम करता है। वह सेना के कैंट एरिया में जाकर जासूसी करता था। फिलहाल ये दोनों जेल की हवा खा रहे हैं।