रूस-यूक्रेन युद्ध के बीच पीएम मोदी जाएंगे यूरोप, देशों के राष्ट्राध्यक्षों से करेंगे बात

पूजा चौधरी
पीएम नरेंद्र मोदी 2022 में होने वाले पहले विदेशी दौरे पर यूरोप जाएंगे और तीन देशों की यात्रा करेंगे। विदेश मंत्रालय के मुताबिक, पीएम दो मई से चार मई तक यूरोप के दौरे पर ही रहेंगे। इसी बीच, वे जर्मनी, डेनमार्क और फ्रांस का दौरा करेंगे।
पीएम मोदी डेनमार्क द्वारा आयोजित किए जा रहे दूसरे भारत-नॉर्डिक शिखर सम्मेलन में भी भाग लेंगे। भारत-नॉर्डिक शिखर सम्मेलन शुरुआत 2018 में हुई थी। पहला सम्मेलन उस साल अप्रैल में स्टॉकहोम में हुआ था, जो कि स्वीडन की राजधानी है। यह अपने आप में एक अनूठा सम्मेलन था।

जहां उत्तरी यूरोप के पांच देशों को एक मंच पर लाकर भारत के साथ उनके रिश्तों को मजबूत करने का प्रयास किया गया था। पीएम मोदी डेनमार्क द्वारा आयोजित किए जा रहे दूसरे भारत-नॉर्डिक शिखर सम्मेलन में भी भाग लेंगे। पीएम नरेंद्र मोदी 4 मई शाम को कुछ समय पेरिस में ही रुकेंगे और फिर फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों से भी मुलाकात करेंगे। जर्मनी के चांसलर ‘ओलाफ शोल्ज’ के साथ जरुरी मुद्दों को ध्यान में रखते हुए द्विपक्षीय वार्ता भी करेंगे। इसके अलावा पीएम मोदी भारत-जर्मनी के बीच छठवीं अंतर्सरकारी बैठक में भी हिस्सा लेंगे।


पीएम का यह यूरोप दौरा बहुत ही अहम माना जा रहा है क्यूंकि यूरोप लगातार भारत से रूस पर अपनी निर्भरता कम करने के लिए कहता रहता है तो इस मुद्दे पर भी अहम बात हो सकती है। और इसके अलावा कई दिनों से चल रहे रुस और यूक्रेन के बीच युध्द के ऊपर भी पीएम मोदी चर्चा कर सकते हैं। इसके बीच रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव का भी एक बयान सामने आया था जिसमें उन्होंने कहा था कि अगर रूस-यूक्रेन युद्ध को रुकवाने में भारत मध्यस्थता करता है, तो उन्हें इस बात से कोई आपत्ति नहीं होगी। ऐसे में पीएम इन तीनों देशों से संकट को हल करने पर भी चर्चा कर सकते हैं।