हर कब्जे वाले को पता होना चाहिए, उन्हें यूक्रेनियन से हमले पर जवाब मिलेगाः जेलेंस्की

जेलेंस्की

जेलेंस्की

यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोदिमिर जेलेंस्की ने वीडियो संदेश में अपने देश के नागरिकों से रूस के खिलाफ लड़ाई जारी रखने का आग्रह किया है। रूस का कीव पर आक्रमण सातवें दिन भी जारी रहा। बुधवार देर रात फेसबुक पर पोस्ट किए गए वीडियो में, राष्ट्रपति ने कहा, “हर कब्जे वाले को पता होना चाहिए, उन्हें यूक्रेनियन से हमले पर जवाब मिलेगा। हम एक ऐसे राष्ट्र से आते हैं, जिसने एक हफ्ते में दुश्मन की योजनाओं को तोड़ दिया।”

बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार, एक अज्ञात स्थान से नागरिकों को संबोधित करते हुए जेलेंस्की ने कहा कि यूक्रेन में पकड़े गए रूसी सैनिकों को यह पता नहीं है कि वे यहां क्यों हैं।

राष्ट्रपति ने कोनोटोप, बश्तंका, एनरगोडार और मेलिटोपोल शहरों में नागरिकों को धन्यवाद दिया, जिन्होंने दावा किया कि रूसी सैनिकों को प्रवेश करने से रोकने के लिए सड़कों को बंद कर दिया है।

बीबीसी ने कहा कि जेलेंस्की के वीडियो संबोधन के कुछ ही घंटों बाद, कीव में गुरुवार सुबह चार विस्फोट हुए।

चार विस्फोटों में से दो कथित तौर पर सिटी सेंटर में और दो अन्य मेट्रो स्टेशन के पास हुए।

विस्फोटों के बाद राजधानी शहर में हवाई हमले के लगातार सायरन सुनाई दिए।

इसके अलावा गुरुवार को सुबह, दक्षिणी यूक्रेन के एक प्रमुख बंदरगाह शहर खेरसॉन के मेयर इगोर कोल्यखेव ने दावा किया कि रूसी सैनिकों ने वहां कब्जा कर लिया है।

बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार, एक फेसबुक पोस्ट में, कोलयखेव ने कहा कि रूसी सेना अब खेरसॉन के नियंत्रण में है और सैनिकों ने वहां कर्फ्यू लगा दिया है।

इस बीच, यूक्रेन के दूसरे सबसे बड़े शहर खारकीव में, रूसी सेना गोले से हमला करती रही, कथित तौर पर दर्जनों नागरिक मारे गए और घायल हुए, जबकि सैनिकों ने बंदरगाह शहर मारियुपोल को भी घेर लिया।

यूक्रेन ने दावा किया है कि 2,000 से अधिक नागरिक मारे गए हैं, जबकि संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी एजेंसी (यूएनएचसीआर) ने कहा है कि वहीं, करीब 10 लाख लोग देश छोड़कर भाग गए हैं।