कोहली सेना ने किया सेंचुरियन में फतह

कोहली

कोहली

पहले टेस्ट में लोकेश राहुल के शानदार शतक और शमी-बुमराह के दमदार गेंदबाजी के बदौलत टीम इंडिया ने साउथ अफ्रीका को 113 रन से मात दे दिया। वहीं अफ्रीका के सामने 305 रनों का विशाल लक्ष्य था। इसके जवाब में टीम महज 191 रन पर ही धराशाई हो गई। बता दें कि भारत की सेंचुरियन के मैदान पर यह पहली टेस्ट जीत है। इसी जीत के साथ ही विराट एंड कंपनी ने 3 मैचों की टेस्ट सीरीज में 1-0 की बढ़त बना ली है। दरअसल, सेंचुरियन 56वां ऐसा मैदान बना, जहां टीम इंडिया ने कोई टेस्ट मैच जीता हो। इसके साथ ही भारत ने सबसे ज्यादा ग्राउंड पर टेस्ट जीतने के मामले में ऑस्ट्रेलिया के वर्ल्ड रिकॉर्ड की बराबरी कर ली है। चौथी पारी में अफ्रीका के लिए कप्तान डीन एल्गर,77 रन पर टॉप स्कोरर रहे। वहीं, भारत की ओर से मोहम्मद शमी और जसप्रीत बुमराह ने 3-3 विकेट अपने नाम किए। मोहम्मद सिराज और रविचंद्रन अश्विन ने दो-दो विकेट लिए। हालांकि शमी ने दोनों पारियों में कुल 8 विकेट हासिल किए।

पहली पारी में शानदार शतक जमाने वाले उपकप्तान केएल राहुल को ‘मैन ऑफ द मैच’ का अवॉर्ड मिला। राहुल ने पहली पारी में 123 और दूसरी पारी में 23 रन बनाए थे। टेस्ट क्रिकेट में ये उनका 7वां और मेजबान टीम के खिलाफ पहला शतक था। वहीं केएल राहुल को चौथी बार टेस्ट में ‘मैन ऑफ द मैच’ का अवॉर्ड मिला। डीन एल्गर 156 गेंदों पर 77 रनों की शानदार पारी खेलकर आउट हुए। जसप्रीत बुमराह ने उन्हें पगबाधा आउट किया। एल्गर ने रिव्यू लिया, लेकिन रीप्ले में दिखा कि गेंद ऑफ स्टंप्स की लाइन पर थी और अफ्रीकी कप्तान आउट हुए। टीम का छठा विकेट मोहम्मद सिराज ने क्विंटन डी कॉक को क्लीन बोल्ड कर चटकाया।


विकेटकीपर डी कॉक ने 28 गेंदों पर 21 रन बनाकर आउट हुए। उसके अगले ही ओवर में शमी ने वियान मुल्डर को विकेट की पीछे ऋषभ पंत के हाथों कैच आउट कराया। मुल्डर 1 रन बनाकर आउट हुए। टी-ब्रेक के बाद मार्को जेन्सन 13 रन बनाकर शमी को अपना विकेट थमा बैठे। जबकि कगिसो रबाडा तो बिना खाता खोले ही पवेलियन की ओर चल दिए।


बड़े लक्ष्य का पीछा करने उतरी अफ्रीका की शुरुआत बेहद खराब रही और पारी के दूसरे ही ओवर में मोहम्मद शमी ने एडेन मार्करम को बोल्ड कर दिया। मार्करम 7 गेंदों में सिर्फ 1 रन बनाकर आउट हुए। टीम इंडिया को दूसरी सफलता मोहम्मद सिराज ने कीगन पीटरसन (17 रन) को आउट कर दिलाई। पीटरसन का कैच विकेट के पीछे ऋषभ पंत ने पकड़ा। टीम ने ये पहले 2 विकेट 34 के स्कोर पर गंवा दिए थे।
इसके बाद डीन एल्गर और रैसी वान डेर डुसेन ने चौथे विकेट के लिए 135 गेंदों पर 40 रन जोड़े। ये साझेदारी टीम इंडिया के लिए परेशानी खड़ी कर रही थी, तभी बुमराह ने वान डेर डुसेन (11 रन) को बोल्ड कर न सिर्फ इस पार्टनरशिप को तोड़ा बल्कि टीम इंडिया की मैच में वापसी भी करा दी। इस विकेट के साथ ही बुमराह ने विदेशी सरजमीं पर अपने 100 टेस्ट विकेट भी पूरे कर लिए। बुमराह ने अपने अगले ही ओवर में नाइट वॉचमैन केशव महाराज (8 रन) को क्लीन बोल्ड कर अफ्रीका का चौथा झटका पहुंचाया।


वैसे एक बार फिर भारत का मध्यक्रम पूरी तरह से फ्लॉप रहा। विराट कोहली, चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे एक बार फिर कोई बड़ी पारी खेलने में नाकाम रहे। विराट कोहली के बल्ले से इस साल की आखिरी पारी में भी शतक नहीं निकला। उनका आखिरी शतक 2020 में बांग्लादेश के खिलाफ आया था।
कोहली ने पिछली 60 पारियों और 768 दिनों से इंटरनेशनल क्रिकेट में शतक नहीं लगाया है। 2021 में विराट ने 11 टेस्ट मैचों में 28.21 की औसत से कुल 536 रन बनाए। वहीं, चेतेश्वर पुजारा ने पिछली 43 पारियों से शतक नहीं लगाया है।

FOR THIS LINK https://www.youtube.com/watch?v=ZHT70TFjRAo

आप चूक गए होंगे