आईआईएमटी कॉलेज ऑफ मेनेजमेंट में फैक्लटी डवलपमेंट प्रोग्राम की शुरूआत

कॉलेज

कॉलेज

(ग्रेटर नोएडा) शहर के नॉलेज पार्क स्थित आईआईएमटी कॉलेज ऑफ मेनेजमेंट में सात दिवसीय फैक्लटी डवलपमेंट की प्रोग्राम की शुरूआत हुई। इस कार्यक्रम में देश के प्रमुख संस्थानों के विशेषज्ञ, और शिक्षाविद् भाग ले रहे हैं। कार्यक्रम में मुख्यअतिथि के रूप में समकुलपति चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय मेरठ की प्रोफेसर डॉ. वाई विमला ने भाग लिया। इसी के साथ आईईए के अध्यक्ष प्रोफेसर घनश्याम एन सिंह, आईआईएमटी कॉलेज समूह के प्रबंध निदेशक डॉ. मयंक अग्रवाल ने अपनी उस्थिति दर्ज कराई। प्रबंधन, आईटी, संचार और अनुसंधान में उभरते और अभिनव दृष्टिकोण पर बोलते हुए सम कुलपति डॉ. वाई विमला ने कहा कि कंप्यूटर और सूचना टेक्नॉलॉजी के क्षेत्र में आज जो नया विस्फोट हुआ है वह भाषा में भी एक मौन क्रांति का वाहक बनकर आया है। अभी तक भाषा को मनुष्य की आवश्यकताओं को पूरा करना पड़ता था लेकिन आज इसे न केवल मनुष्य की आवश्यकताओं को पूरा करना पड़ रहा है, बल्कि मशीन और कम्प्यूटर की नई भाषाई माँगों को भी पूरा करना पड़ रहा है। वहीं वेबिनार में कॉलेज समूह के प्रबंध निदेशक मंयक अग्रवाल ने कहा कि दूर संचार माध्यमों, फ़िल्मों, गीतों, हिन्दी पत्र-पत्रिकाओं आदि ने भी प्रचार-प्रसार में अपनी अहम भूमिका अदा की है। तकनीकी एवं प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में भारत का वर्चस्व तेज़ी से बढ़ रहा है। दूसरी तरफ प्रोफेसर घनश्याम एन सिंह ने भी वेबिनार को दौरान अपने विचार रखे। इसी के साथ ही कॉलेज ऑफ मेनेजमेंट के डॉयरेक्टर अभिन्न बख्सी भटनागर ने कार्यक्रम के दौरान बताया कि आईटी प्रबंधन वह अनुशासन है जिसके तहत एक फर्म के सभी संसाधनों को उसकी जरूरतों और प्राथमिकताओं के अनुसार काम किया जाता है।