ई-श्रम के अंतर्गत भरण-पोषण के लिए श्रमिकों के खाते में आएंगे अब 1000 रुपए

ई-श्रम

ई-श्रम

असंठित कर्मकार सामाजिक सुरक्षा बोर्ड के अन्तर्गत ई-श्रम में पंजीकृत तथा उ0प्र0 भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड के अन्तर्गत पंजीकृत निर्माण श्रमिकों को भरण-पोषण भत्ता के रूप में प्रदेश के एक करोड़ पचास लाख कामगारों में कुल पन्द्रह सौ करोड़ की धनराशि का आनलाईन हस्तानान्तरण प्रदेश स्तर पर आयोजित कार्यक्रम में मुख्य मंत्री योगी आदित्य नाथ तथा श्रम एवं सेवायोजन मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य द्वारा लखनऊं लोक भवन से किया गया। इस अवसर पर जनपद स्तर पर श्रम विभाग द्वारा जिलाधिकारी मऊ अमित सिंह बंसल की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट परिसर में कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें विभिन्न लाभार्थियों को प्रमाण-पत्र वितरित किये गये। ज्ञात हो कि ई-श्रम पोर्टल का शुभारम्भ भारत सरकार के श्रम रोजगार मंत्रालय द्वारा विभिन्न प्रकार के असंगिठत कर्मकारों जैसे-ठेला खोमचा चलाने वाले, रेहड़ीपट्टी लगाने वाले, नाई, बुनकर, मोची, लोहर, कुम्हार, घरेलू मजदूर जैसे मजदूरों के पंजीकरण के लिए किया गया है। आज इस पोर्टल पर पंजीकृत 31 अक्टूबर,2021 तक पंजीकृत एवं निर्माण बोर्ड में पंजीकृत श्रमिकों के खाते में राज्य सरकार द्वारा एक हजार रूपये की धनराशि प्रेषित की गयी है। जनपद मऊ में ई-श्रम के अन्तर्गत पंजीकृत कुल एक लाख तीन हजार चैरासी श्रमिकों के खाते में एक-एक हजार रूपये की धनराशि प्रेषित की गयी। पोर्टल के बन जाने से जहाॅ सम्पूर्ण देश में काम करने वाले श्रमिकों का डाटाबेस तैयार हुआ है, वही आपदा की स्थिति में सरकार आसानी से सीधे श्रमिकों के खाते में भरण-पोषण भत्ता देने में भी समर्थ हुई है। इस अवसर पर धन्यवाद ज्ञापित करते हुए श्रम प्रवर्तन अधिकारी धीरज सिंह ने उपस्थित श्रमिकों से विभाग के विभिन्न योजनाओं का अधिक से अधिक लाभ उठाने एवं पात्र श्रमिकों का पंजीकरण किये जाने की अपील की। कार्यक्रम में जनपद से आये सैकड़ों श्रमिकों सहित सूर्यदेव पाण्डेंय, भरत थरड़, शिवाकान्त मिश्रा तथा कार्यालय के कर्मचारी ओमप्रकाश व0सहायक, सुरेन्द्र यादव सहायक लेखाकार, सतीष विश्वकर्मा कम्प्यूटर आपरेटर, नरेन्द्रलाल पी0सी0सी0, गिरिश राय, अनुसेवक आदि उपस्थित रहे।

आप चूक गए होंगे