पाकिस्तान के पीएम की कुर्सी पर छाया संकट, सेना औऱ सरकार के बीच तकरार

पाकिस्तान

पाकिस्तान में सरकार और सेना के बीच खुफिया एजेंसी आईएसआई के प्रमुख की नियुक्ति को लेकर तकरार तेज हो गई है। अब सूत्रों का यहां तक कहना है कि सेना पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को पद से हटाने की तैयारी कर रही है। 20 नवंबर को लेफ्टिनेंट जनरल नदीम अंजुम आईएसआई के डीजी का पद संभालने जा रहे हैं। इसे लेकर इमरान खान और सेना प्रमुख कमर जावेद बाजवा के बीच तकरार चरम पर है। बाजवा चाहते हैं कि आईएसआई प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल फैज हमीद को पद पर बनाए रखा जाए।

सूत्रों ने उन दो विकल्पों के बारे में जानकारी दी है, जिन्हें् इमरान खान के सामने रखा गया है। इनमें से पहला विकल्पह यह है कि इमरान खान खुद 20 नवंबर से पहले पद से इस्तीमफा दे दें और दूसरा विकल्पक है कि संसद में विपक्ष इन हाउस बदलाव करेगा। इन दोनों ही विकल्पों में इमरान खान का पद से जाना तय है। सूत्रों ने यह भी कहा है कि आने वाले हफ्तों में पाकिस्तादन की सत्ताारूढ़ पार्टी पाकिस्तासन तहरीक ए इंसाफ का साथ उसके दो गठबंधन दल मुतहिदा कौमी मूवमेंट और पाकिस्ता्न मुस्लिम लीग छोड़ सकते हैं।

सूत्रों ने यह भी बताया है कि पीटीआई के परवेज खटक और पाकिस्ताेन मुस्लिम लीग के शाहबाज शरीफ संभावित प्रधानमंत्री पद के लिए प्रमुख नाम हैं। पाकिस्तामन सरकार ने पिछले हफ्ते ही तहरीक ए लब्बैपक पाकिस्तालन के सैकड़ों समर्थकों को रिहा किया है। ताकि हिंसक प्रदर्शनों को खत्मख किया जा सके। यह समूह पाकिस्तातन सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर रहा था। इसकी मांग थी कि अप्रैल में गिरफ्तार किए गए इसके नेता साद रिजवी को रिहा किया जाए।
टीएलपी और पाकिस्तारन की इमरान खान की सरकार के बीच सेना ही तनाव पैदा कर रही है। उसका मकसद इमरान खान को बैकफुट पर लाना था। सूत्रों का कहना है कि यह सब इसलिए हुआ है कि सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा सरकार की ओर से लेफ्टिनेंट नदीम अंजुम की नियुक्ति में देरी और उन्हेंज आईएसआई का डीजी बनाने को लेकर नाराज थे।

आप चूक गए होंगे