आइए जानते हैं क्या है खाने-पीने की आदतों से नींद का संबंध

नींद का संबंध

नींद

किसी से भी पूछो तो किस समय काम करना अच्छा लगता है तो अधिकतर का जवाब रहेगा दिन। कोई भी व्यक्ति दिन में काम करके पूरे रात सुकुन से सोना चाहता हैं। बता दें कि प्रत्येक व्यक्ति को रोजाना 8 घंटे की नींद जरूर लेनी चाहिए। क्या आप दिन भर सुस्त महसूस करते हैं? क्या आपको आजकल कम नींद आती है? यदि इन सवालों का जवाब हां है, तो आपको अपनी डाइट में बदलाव करने की जरूरत है। नींद का ज्यादातर संबंध आपकी खाने-पीने की आदतों से लगा होता है। नींद का संबंध .


द नेशनल मेडिकल जर्नल ऑफ इंडिया में प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार, भारत में लगभग 33% एडल्ट्स नींद की कमी से जूझते हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि कोरोना महामारी के दौरान इस आंकड़े में बढ़ोतरी देखने को मिला है। नींद की खराब क्वालिटी हॉरमोन, इम्यून सिस्टम, दिमाग और एनर्जी लेवल पर गलत असर डालती है।
वहीं शोधकर्ताओं ने न्यूट्रीशन और नींद के कनेक्शन पर ज्यादा शोध नहीं किया हैं। हालांकि, डॉक्टरों का कहना है कि खाने-पीने की चीजें हमारे स्लीप हॉरमोन मेलाटोनिन को प्रभावित करती हैं। इसके अलावा, फिजिकल एक्टिविटी न करने और इलेक्ट्रोनिक गैजेट्स का इस्तेमाल ज्यादा करने से भी नींद पर गलत असर पड़ता है। आज आपको बताते हैं कि कौन सी ऐसी चीजें हैं जो हमारे नींद पर नकारात्मक प्रभाव डालती है।


पहला कॉफी जिसे सोने से पहले सेवन करने से हमारे नींद को खराब करता है। इसमें मौजूद कैफीन दिमाग के सेल्स को सक्रिय रखता है, जिससे इंसान को जल्दी नींद नहीं आती। कॉफी शरीर की नेचुरल घड़ी को प्रभावित करता है। इससे लोगों को दिन के समय नींद आने लग जाती है। दूसरा शराब है जिसे पीने पर भले ही आपको थोड़ी देर के लिए नींद का एहसास हो, लेकिन ये नींद खत्म करता है। इससे अगले दिन भी आपको सुस्ती महसूस होती है और आपकी नींद पूरी नहीं हो पाती। तीसरा तला और ज्यादा मसाले वाला खाना जो शरीर में कई तरह की समस्याएं बनाता है। इससे शरीर में एसिड की मात्रा बढ़ जाती है। साथ ही, पेट संबंधी बीमारियां होने के कारण भी नींद पूरी नहीं होती है। वहीं कुछ चीजें ऐसी भी है जो हमारे नींद की क्वालिटी को बेहतर करता है। जिसमें प्रोटीन से भरपूर आहार, कीवी, फैटी फिश, हर्बल टी और गर्म दूध शामिल हैं।

For More Subscribe Youtube Channel