उत्तर प्रदेश के सयासी सट्टेबाजी का गर्माता जा रहा बाजार, किसकी पलड़ा होगा भारी

सियासी सट्टेबाजी

सियासी सट्टेबाजी

सत्ता के महाकुंभ में सट्टा का बाजार भी गर्म हो गया है। अभी मतदान शुरू नहीं हुआ है। लेकिन सट्टा बाजार यूपी विधानसभा चुनाव के परिणाम को लेकर सटटा बाजार में कयासों का दाैर शुरू हो गया है। सट्टा बाजार में भाजपा फेवरेट बनी हुई है। वहीं समाजवादी पार्टी और बसपा के बीच भी दांव लग रहा है। सट्टा बाजार में विधानसभा क्षेत्रों में संभावित उम्मीदवारों को लेकर भी बाजी लगायी जा रही है। सयासी सट्टेबाजी

दरअसल कई चैनलों पर ओपिनियन पोल आने के बाद से सट्टा बाजार के बुकी सक्रिय हो गए हैं। उत्तर प्रदेश के साथ पंजाब, गोवा, उत्तराखंड और मणिपुर में होने वाले विधानसभा चुनाव की राजनैतिक पार्टियों पर सट्टा लग रहा है। उत्तर प्रदेश में भाजपा सट्टा बाजार में फेवरेट बनी हुई है। सट्टा बाजार भाजपा को यूपी विधानसभा चुनाव में 225 सीटें दे रहा है। इतनी सीटों पर भाव बराबर का है। यदि सट्टा लगाने वाला व्यक्ति 100 रुपये भाजपा पर लगाता है 225 से अधिक सीटें आने पर 200 रुपये वापस मिलेंगे। सट्टा बाजार 228 से अधिक सीटों पर तीन गुणा का भाव दे रहा है।

इसी तरह समाजवादी पार्टी के लिए 128 सीटों का अनुमान सट्टा बाजार लगा रहा है। इतनी सीटें आने पर 100 रुपये के बदले 200 रुपये मिल सकते हैं। जबकि 131 से अधिक सीटें आने पर तीन गुणा का भाव चल रहा है। इसके अलावा यूपी चुनाव में बसपा वह तीसरा दल है । जिसका बाजार भाव सट्टा बाजार ने खोला है। सट्टा बाजार बसपा को 10 सीटें दे रहा है। इतनी सीटें आने पर लगायी गई रकम के बराबर वापस मिलेगी। सट्टा बाजार में भाजपा और सपा के हर विधानसभा क्षेत्र के भावी उम्मीदवारों पर भी दांव लग रहा है। बड़ी शख्सियत कहां से लड़ेंगी और मुख्य उम्मीदवार कौन से तय होंगे। इसे लेकर भी बाजार का भाव खुल गया है। सट्टा बाजार पंजाब में आम आदमी पार्टी को 51 सीटें दे रहा है। जबकि दूसरे नंबर पर कांग्रेस को 37 और अकाली को 14 सीट सट्टा बाजार दे रहा है। सयासी सट्टेबाजी