तेज़ बारिश और भूस्खलन से बिगड़ते हालातों पर पीएम मोदी ने जताई चिंता

केरल में तेज़ बारिश और जोरदार आंधी के बीच भूस्खलन की समस्या ने लोगों का जीना दूभर कर दिया है। दो दिनों से लगातार हो रही बारिश से नदियां उफान पर पहुंच गईं हैं जिसकी वजह से बाढ़ जैसी स्थिति उत्पन्न हो गई है। इन हालातों से जूझने के लिए सेना की भी मदद ली जा रही है जबकि एनडीआरएफ की टीमें राहत बचाव कार्य में पहले दिन से ही जुटी हुई हैं।

वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्य में उत्पन्न हुई स्थितियों पर चिंता जताते हुए सीएम पिनरायी विजयन से बात की थी। इस दौरान उन्होंने हर संभव मदद का आश्वासन देते हुए सीएम से बारिश से बिगड़ते हालातों की समीक्षा की थी।

बता दें, केरल में बीते दिन तेज़ बारिश और बाढ़ की चपेट में आने से 26 लोगों की जान चली गई थी। जिसमें सबसे अधिक मौतें कोट्टयम जिले में हुई थीं। यहां 13 लोगों की बाढ़ की चपेट में आने से मौत हो गई थी। वहीं, इडुक्की में 9 और अलपुझा जिले में 4 लोगों के मरने की खबर थी।

मौजूदा हालातों के मुताबिक, मौसम विभाग ने राज्य के पथनमथिट्टा, एर्नाकुलम, कोट्टयम, इडुक्की और त्रिशुर में बारिश को लेकर रेड अलर्ट जारी किया गया है जबकि तिरुवनंतपुरम, कोल्लम, अलपुझा, पलक्कड, मल्लपुरम, वायनाड और कोझिकोड में ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। जानकारी के मुताबिक, कई जिलों में बारिश के कारण नदियों का पानी 30 फीट तक ऊपर पहुंच चुका है।  

मनीमाला, मीनाचल और पुलगयार नदियों का जलस्तर तेजी से बढ़ रहा है जिसकी वजह से तटीय इलाकों पर रह रहे लोगों को यहां से पलाय़न करने को मजबूर हो गए हैं।

आप चूक गए होंगे