इराक में रेतीले तूफान से लोग हुए बीमार, हजारों को अस्पताल में कराया गया भर्ती

इराक

इराक

अनुराग दुबे : अक्सर आपने देखा होगा कि अरब के लोग रेगिस्तान में ऊटों की दौड़ कराते है या सपोर्ट गाडियों को रेतीले पहाड़ पर चढ़ाते हैं। लेकिन यही रेत यहां के नागरिकों को लिए मुसिबत भी बन जाता है। ऐसा ही नजारा इन दिनों इराक में देखा जा सकता है क्योंकि इराक में रेतीले तूफान ने हाहाकार मचा दिया है। जिसकी वजह से इन लोगों को जान-माल का नुकसान उठाना पड़ रहा है। इराक में अप्रैल से लेकर अब तक आठ बार रेतीले तूफान आ चुके हैं। लेकिन बीते मंगलवार को आए तुफान में जान-माल की काफी नुकसान हुई है। इस बार के आए तुफान में लोगों को सांस की परेशानी का सामाना करना पड़ा। मीडिया रिपोर्ट की माने तो करीबन 4000 लोगों को सांस की परेशानी के वजह से अस्पताल में भर्ती कराया गया है। देश के सभी हवाई अड्डों, यातायात के साधनों सहित स्कूल-कॉलेज व दफ्तर भी बंद कर दिए गए हैं। इससे पहले भी उठे रेतीले तूफान में 5000 से अधिक लोगों को सांस लेने में परेशानी का सामना करना पड़ा।
बीते दिनों आए तूफान में आसमान का नजारा देखने लायक था। आसमान नीला होने के बजाय पूर्ण रुप से रेत से घिर गया। रेत के कारण लोगों के दम घुटने लगा था। जिन लोगों की स्थिति खराब नजर आ रही थी उन्हें तत्काल ही अस्पताल में भर्ती कराया गया। इराक में उठे तूफान का कारण है कि यहां पर वर्षा, जल संकट और लगातार बदल रहे पर्यावरण ही रेतीले तूफान को जन्म दे रहे हैं। इराक की राजधानी बगदाद तो इसके कारण नारंगी की तरह दिखने लगा।