ग्रेटर नोएडा में डेंगू का खौफ, बुखार से महिला और युवती समेत तीन की मौत

डेंगू

डेंगू का प्रकोप लगातार बढ़ता जा रहा है। जेवर के थोरा गांव निवासी युवती और महिला समेत तीन लोगों ने बुखार आने के बाद दम तोड़ दिया। परिजन ने डेंगू से मौत का दावा किया है। वहीं स्वास्थ्य विभाग ने इसकी जानकारी से इनकार किया है। यमुना प्राधिकरण भी गांव में सफाई नहीं करा रहा हैं। ग्रामीणों में स्वास्थय विभाग व प्राधिकरण के प्रति नाराजगी बढ़ती जा रही है़।

बता दे कि जेवर के थोरा गांव निवासी ओमप्रकाश ने बताया कि बेटे सूरज (16) को तेज बुखार था। जिसके बाद प्लेटलेट्स कम होना शुरू हुआ। उन्होंने सूरज को दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया जहां उपचार के दौरान शनिवार को सूरज ने दम तोड़ दिया। वहीं गांव निवासी जयप्रकाश की 20 वर्षीय बेटी आरती को पिछले तीन दिनों से तेज बुखार की शिकायत थी।परिजनों ने आरती को जेवर के निजी अस्पताल में भर्ती कराया। जहां से डाक्टरों ने जिम्स रेफर कर दिया। रविवार सुबह 4 बजे आरती ने दम तोड़ दिया।

वहीं थोरा गांव निवासी चमन शर्मा की पत्नी प्रीति काफी समय से किडनी की बीमारी से पीड़ित थी। तीन दिन पहले उन्हें तेज बुखार आया जिसके बाद परिजन ने जेवर के कैलाश अस्पताल में भर्ती कराया। रविवार दोपहर बाद अस्पताल में प्रीति ने दम तोड़ दिया। परिजनों ने बताया कि प्रीती की प्लेटलेट्स 10 हजार से भी कम हो गई थी। जिसके बाद लगातार स्थिति बिगड़ती चली गई और डेंगू की वजह से मौत हो गई। उसकी मौत से परिवार वालो का रो- रो कर बुरा हाल हैं।