किसके सिर पर सजेगा चैंपियन का ताज, सीएसके और केकेआर में कौन बनेगा आइपीएल 14 का विजेता?

भारतीयों के लिए आद दो पर्व हैं। एक तरफ विजयादशमी तो दूसरी तरफ आईपीएल जैसे मेगा इंवेंट का फाइनल मैच। आइपीएल 2021 सीजन 14 का आज फाइनल मुकाबला ख्ला जाएगा। आज यह फाइनल मैच सीएसके और केकेआर के बीच खेला जाएगा। 9 साल बाद आज फिर से केकेआर के पास इतिहास दोहराने का मौका है। एक तरफ 3 बार की चैंपियन टीम सीएसके दिग्गज धोनी की कप्तानी में खेलने उतरेगी तो वहीं दूसरी तरफ 2 बार की चैंपियन केकेआर इयोन मोर्गेन के नेतृत्व में खेलने उतरेगी।

बता दें कि केकेआर जब भी फाइनल में पहुंची है तो आइपीएल का खिताब जरूर जीती है। ऐसे में देखना होगा की आज वह धोनी सेना को मात दे पाती है या नहीं। इसका फैसला आज ही हो जाएगा। केकेआर ने साल 2012 और 2014 में दोनों बार गौतम गंभीर की कप्तानी के दौरान आइपीएल का खिताब जीता था। साल 2012 में सीएसके टीम में धोनी,  रैना, ब्राबो और जडेजा के रहते हुए भी फाइनल मैच हार गई थी। और वह एक बार फिर सीएसके का हिस्सा हैं। वहीं उस मैच में कोलकता की टीम में सुनील नरेन और शाकिब अल हसन भी शामिल थे। जो आज 9 साल बाद एक बार फिर कोलकता की तरफ से खेलते हुए दिखाई देंगे।

कोलकता दो साल बाद 2014 में पंजाब को हराकर चैंपियन बनी थी। कोलकता ने पंजाब को 8 विकेट से हराकर दूसरी बार आइपीएल का खिताब जीता था।

ऐसे में केकेआर को धोनी के टीम से पार पाना आसान नहीं हैं। अगर फाइनल में धोनी जैसा कप्तान हो तो फिर इतिहास रचना ज्यादा मुश्किल नहीं होगा। धोनी का जीत मंत्र ही है-खुद पर भरोसा करो। चेन्नई के पास ऋतुराज गायकवाड़ और फाफ डू प्लेसिस जैसे बेहतरीन ओपनर हैं,  जो सीएसके को मजबूत शुरूआत देते हैं। वहीं इस सीजन में ऋतुराज 3 अर्धशतक के साथ 600 से अधिक रन भी बना चुके हैं। कूल कैप्टन धोनी की नेतृत्व क्षमता के दम पर अगले कुछ सालों के लिए टीम की नींव मजबूत हुई है। हालांकि इस साल या अगले साल तक धोनी आइपीएल से सन्यास लेते हैं तो ऋतुराज गायकवाड़ को टीम की जिम्मेदारी दी जा सकती है। सीएसके ने घोनी की ही कप्तानी में तीनों बार आइपीएल टाइटल अपने नाम किया है।  पिछले सीजन में बाहर होने वाली सीएसके ने  इस सीजन में शानदार वापसी करते हुए फाइनल में सबसे पहले जगह बनाई है। इस टीम के पास अनुभव की कोई कमी नही है।