पीएम मोदी 1 अप्रैल को करेंगे बोर्ड छात्रों से बात

कोरोना

दसवीं और बारहवीं बोर्ड सहित दूसरी अहम प्रतियोगी परीक्षाओं से पहले पीएम मोदी एक बार फिर से छात्रों को परीक्षा के दौरान होने वाले तनाव को दूर करने का मंत्र देते दिखेंगे। यह चर्चा अब एक अप्रैल को नई दिल्ली स्थित तालकटोरा स्टेडियम में होगी। इसमें छात्रों के साथ शिक्षक और अभिभावक भी शामिल होंगे। कोरोना संकट के चलते पहले इस चर्चा को पिछले साल की तरह वर्चुअल ही रखा गया था, लेकिन कोरोना की स्थिति में तेजी से हुए सुधार के बाद शिक्षा मंत्रालय ने इस चर्चा को पहले की तरह आयोजित करने का घोषणा की है।
दरअसल, शिक्षा मंत्रालय ने गुरुवार को पीएम मोदी की छात्रों के साथ परीक्षा पे चर्चा की तारीख का ऐलान किया। जिसमें छात्र पहले की तरह पीएम के साथ बैठकर परीक्षा और पढ़ाई से जुड़े विषयों पर सीधे सवाल पूछ सकेंगे। पीएम मोदी की छात्रों के साथ परीक्षा पे चर्चा करने की यह शुरुआत 2018 में हुई थी। तब से हर साल इसका आयोजन होता आ रहा है। इस चर्चा के लिए रजिस्ट्रेशन का काम दिसंबर से शुरू हो गया था। मंत्रालय के मुताबिक चर्चा में शामिल होने के लिए करीब 12 लाख छात्रों व तीन लाख शिक्षकों ने रजिस्ट्रेशन कराया है। इन छात्रों में से उन छात्रों का भी चयन होगा, जो पीएम मोदी से परीक्षा व पढ़ाई से जुड़े सवाल पूछेंगे।
शिक्षा मंत्रालय के मुताबिक चर्चा के लिए यह समय इसलिए तय किया गया है, क्योंकि परीक्षा की तारीखें निकट आने से छात्रों पर पढ़ाई को लेकर दबाव है। इसके साथ ही परीक्षा देने वाले सभी छात्रों के घरों में इस समय पढ़ाई को लेकर तनावपूर्ण माहौल बन जाता है। ऐसे समय में पीएम की यह टिप्स काफी अहम होगी। वैसे भी सीबीएसई की बोर्ड परीक्षाएं 26 अप्रैल से शुरू हो रही है, वहीं इंजीनिय¨रग में दाखिले से जुड़ी जेईई मेंस की परीक्षाएं 21 अप्रैल से शुरू हो रही हैं। इसके साथ ही जेईई एडवांस, नीट और सीयूईटी जैसी परीक्षाएं भी आने वाले महीनों में आयोजित होने वाली हैं।

दसवीं और बारहवीं बोर्ड सहित दूसरी अहम प्रतियोगी परीक्षाओं से पहले पीएम मोदी एक बार फिर से छात्रों को परीक्षा के दौरान होने वाले तनाव को दूर करने का मंत्र देते दिखेंगे। यह चर्चा अब एक अप्रैल को नई दिल्ली स्थित तालकटोरा स्टेडियम में होगी। इसमें छात्रों के साथ शिक्षक और अभिभावक भी शामिल होंगे। कोरोना संकट के चलते पहले इस चर्चा को पिछले साल की तरह वर्चुअल ही रखा गया था, लेकिन कोरोना की स्थिति में तेजी से हुए सुधार के बाद शिक्षा मंत्रालय ने इस चर्चा को पहले की तरह आयोजित करने का घोषणा की है।
दरअसल, शिक्षा मंत्रालय ने गुरुवार को पीएम मोदी की छात्रों के साथ परीक्षा पे चर्चा की तारीख का ऐलान किया। जिसमें छात्र पहले की तरह पीएम के साथ बैठकर परीक्षा और पढ़ाई से जुड़े विषयों पर सीधे सवाल पूछ सकेंगे। पीएम मोदी की छात्रों के साथ परीक्षा पे चर्चा करने की यह शुरुआत 2018 में हुई थी। तब से हर साल इसका आयोजन होता आ रहा है। इस चर्चा के लिए रजिस्ट्रेशन का काम दिसंबर से शुरू हो गया था। मंत्रालय के मुताबिक चर्चा में शामिल होने के लिए करीब 12 लाख छात्रों व तीन लाख शिक्षकों ने रजिस्ट्रेशन कराया है। इन छात्रों में से उन छात्रों का भी चयन होगा, जो पीएम मोदी से परीक्षा व पढ़ाई से जुड़े सवाल पूछेंगे।
शिक्षा मंत्रालय के मुताबिक चर्चा के लिए यह समय इसलिए तय किया गया है, क्योंकि परीक्षा की तारीखें निकट आने से छात्रों पर पढ़ाई को लेकर दबाव है। इसके साथ ही परीक्षा देने वाले सभी छात्रों के घरों में इस समय पढ़ाई को लेकर तनावपूर्ण माहौल बन जाता है। ऐसे समय में पीएम की यह टिप्स काफी अहम होगी। वैसे भी सीबीएसई की बोर्ड परीक्षाएं 26 अप्रैल से शुरू हो रही है, वहीं इंजीनिय¨रग में दाखिले से जुड़ी जेईई मेंस की परीक्षाएं 21 अप्रैल से शुरू हो रही हैं। इसके साथ ही जेईई एडवांस, नीट और सीयूईटी जैसी परीक्षाएं भी आने वाले महीनों में आयोजित होने वाली हैं।