सिंघू बॉर्डर पर हुई हत्या का आरोपी निहंग गिरफ्तार

बीते दिन दिल्ली-हरियाणा के सिंघू बॉर्डर पर एक 35 साल के युवक लखबीर सिंह की निर्मम तरीके से हत्या कर दी गई थी। उस व्यक्ति का पहले तो हाथ काटा गया था बाद में उसका पैर काट दिया गया। जिससे उसकी तड़प-तड़पकर मौत हो गई।

इस घटना जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया और अज्ञात आरोपियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर ली थी। वहीं, इस घटना ने सभी को सदके में डाल दिया कि आखिर कैसे कोई व्यक्ति किसी की इतनी भयावह ढंग से हत्या कर सकता है।

सिंघू बॉर्डर पर हुए इस हत्याकांड का जिम्मेदार निहंगों को ठहराया जा रहा है। इसी सिलसिले में सरवजीत सिंह निहंग ने बीते दिन सोनीपत पुलिस थाने में सरेंडर कर दिया। आज पुलिस आरोपी को कोर्ट के सामने पेश करेगी।

जानकारी के मुताबिक, हत्यारे निहंग ने पुलिस को बताया कि मृतक लखबीर पर गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी का आरोप था। उसने निहंगों के कपड़े पहनकर गुरुद्वारे में प्रवेश किया था। इस दौरान उसने गुरु ग्रंथ साहिब का अपमान किया जिसपर निहंगों ने आपत्ति जताई। उन्होंने उसे पकड़ लिया और उसके साथ मारपीट की। जब निहंगों ने उसके इस कृत्य के पीछे की वजह जाननी चाही तो वह चुप हो गया जिसके बाद गुस्साए निहंग ने पहले तो उसका हाथ काटा उसके बाद उसका एक पैर काट दिया और ले जाकर उसे बैरिकेड के पास लटका दिया।

गौरतलब है, इस घटना पर किसान नेताओं का कहना है कि उनका इस हत्याकांड से कोई भी लेनादेना नहीं है। पुलिस को कार्रवाई करने की पूरी आजादी है।