हरीश रावत का बड़ा बयान, कहा- छोड़ना चाहता हूं पंजाब का प्रभारी पद

पंजाब कांग्रेस के नेताओं के बीच चल रहा सियासी घमासान थमने का नाम नहीं ले रहा है। एक तरफ कांग्रेस नेतृत्व जैसे-तैसे करके नेताओं को बहला-फुसलाकर अपनी साख बचाने की कोशिश कर रही है तो वहीं दूसरी नेता हैं कि हाईकमान के सामने एक के बाद एक चुनौती पेश करते जा रहे हैं। इस बीच पंजाब कांग्रेस के चुनाव प्रभारी हरीश रावत ने पद से इस्तीफा देने की बात कर दी है। उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कांग्रेस हाईकमान के सामने सार्वजनिक तौर पर रखी है।

बता दें, एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए हरीश रावत ने कहा कि मैंने निश्चय किया है कि अगले कुछ महीने उत्तराखंड को पूर्ण रूप से समर्पित रहूंगा। मैं आज बड़ी उहापोह से उबर पाया हूं। एक तरफ जन्मभूमि के लिए मेरा कर्तव्य है और दूसरी तरफ कर्मभूमि पंजाब के लिए मेरी सेवाएं हैं। पार्टी नेतृत्व से अपील है कि पंजाब के वर्तमान दायित्य से मुझे मुक्त किया जाए। वहीं, इस दौरान उन्होंने पंजाब में कांग्रेस के नेताओं के बीच विवादों का जनक माने जाने वाले नवजोत सिंह सिद्धू पर निशाना साधते हुए कहा कि पार्टी को उनका इस्तीफा मंजूर कर लेना चाहिए था।

गौरतलब है, उत्तराखंड में अगले वर्ष चुनाव होने हैं। इसलिए कांग्रेस नेता हरीश रावत उत्तराखंड में अपनी सक्रियता कम नहीं करना चाहते हैं।