UP के DGP पर कार्यवाही

कार्यवाही

कार्यवाही


निधि भाटी: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपने दूसरे कार्यकाल के शुरु होते हीं व्यवस्था को और बढाने के लिए प्रयास कर रहे हैं। भ्रष्टाचार को कम करने की नीति के तहत कुछ आईएएस और आइपीएस अधिकारियों पर कार्यवाही कर चुके हैं। सुना गया था कि जल्द ही पुलिस विभाग में भी बदलाव होंगे ।
सुधार, प्रदर्शन बदलाव का मतलब रिफार्म, परफार्म और ट्रांसफार्म का मंत्र अपने मंत्रियों को दे चुके उत्तरप्रदेश के मुख्यंमत्री योगी आदित्यनाथ ने साफ बोल दिया है कि बडे पदों पर बैठे अधिकारियों को भी ज्यादा प्रदर्शन सुधार और बदलाव के परिणाम देने होंगे।
“अकर्मण्यता” जैसे शब्द का इस्तेमाल करते हुए पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) के पद से मुकुल गोयल को हटाकर सीएम योगी ने अन्य अधिकारियों को साफ कहा है कि अब ऐसे में रुकावटें शुरु हो चुकी हैं कि जल्द ही पुलिस और प्रशासन के ओर से कई अधिकारियों पर कार्यवाही की जा सकती है।
इधर, प्रयागराज और ललितपुर में हुई घटनाओं के बाद सीधे डीजीपी पर नाराजगी जताते हुए सीएम योगी ने साफ कह दिया है, कि लापरवाही अब छोडें नही जाएंगे। कहा जा रहा है कि पुलिस विभाग हीं नहीं , बल्कि प्रशासनिक अधिकारियों में भी बडा फेरबदल जल्द किया जा सकता है।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ खुद भी तीन मंडल अयोध्या झांसी और मेरठ का दौरा हाल में ही कर चुके हैं। मत्रिंयों से भी फीडबैक ली गयी है। शासन स्तर मे इस बडी कार्यवाही के बाद अधिकारियों में बेचैनी भी बढ गई है।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सरकारी निवास स्थान पर जनता दरबार मे राजभर से न्याय-याचना के लिए आते हैं। सीएम योगी उनकी परेशानी सुनकर संबंधित अधिकारियों से उनका समाधान कराते है। कई बार वह यह बात कह चुके है कि कई शिकायते ऐसी आती हैं, जिनका हल तहसहील , जिला और थाना स्तर पर ही निकाला जा सकता है। ऐसा संभव हो जाए तो जनता को लखनऊ तक नही आना पडेगा।

About Post Author