योगी सरकार का बड़ा फैसला, स्वास्थ्य केंद्रों में महिलाओं को मिलेगी बेहतर सुविधा

स्वास्थ्य

शाहजहांपुर में स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर करने के लिए प्रयास शुरू कर दिए गए हैं। महिलाओं को इलाज के लिए इधर-उधर भटकना न पड़े इसके लिए मानदेय पर महिला डाक्टरों को रखा जाएगा। पहले चरण में तिलहर व पुवायां सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर फोकस किया जा रहा हैं। जहां महिला रोग विशेषज्ञ डाक्टरों की भी तैनाती होगी। जिससे महिलाओं को अब इलाज के लिए परेशान नहीं होना पड़ेगा।


जिले के सामुदायिक, प्राथमिक व उप केंद्रों पर कम स्टाफ होने की वजह से मरीजों को बेहतर उपचार नहीं मिल पाता हैं। इन केंद्रों के लिए सीएमओ के अधीन 90 डाक्टर हैं। जबकि मानक के अनुसार 189 होने चाहिए। जिसमे महिला डाक्टरों की संख्या न के बराबर हैं। ऐसे में गर्भवती महिलाओं को प्रसव से लेकर अन्य जांच कराने व दवा लेने के लिए राजकीय मेडिकल कालेज या फिर निजी अस्पतालों में जाने को मजबूर होना पड़ रहा था। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के निदेशक ने सीएमओ को पत्र भेजकर मानदेय पर डाक्टरों को नियुक्त करने के आदेश दे दिए हैं। 26 नवंबर को मुख्य विकास अधिकारी कार्यालय में साक्षात्कार होगा। इसके बाद अन्य स्वास्थ्य केंद्रों के लिए भी स्टाफ की कमी को दूर करने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी।


जिला अस्पताल में बाल रोग विशेषज्ञ व प्रसूति एवं स्त्री रोग विशेषज्ञ को तैनात किया जाएगा। तिलहर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर प्रसूति एवं स्त्री रोग विशेषज्ञ, महिला चिकित्साधिकारी को मानदेय पर तैनात किया जाएगा। वहीं पुवायां में प्रसूति एवं स्त्री रोग विशेषज्ञ व महिला चिकित्साधिकारी को भेजा जाएगा। इसके अलावा जिला अस्पताल, तिलहर व पुवायां में निश्चेतक की नियुक्त की जाएगी।