फरीदाबाद में अवैध भ्रूण लिंग जांच के 5 आरोपियों का स्वास्थ्य टीम ने किया भंडाफोड़

फरीदाबाद

फरीदाबाद में स्वास्थ्य विभाग की टीम ने अवैध भ्रूण लिंग जांच के आरोप में एक आशा कार्यकर्ता समेत पांच लोगों को गिरफ्तार किया है। शिकायत पर बल्लभगढ़ थाना पुलिस ने आठ आरोपियों पर केस दर्ज करके पांच को गिरफ्तार किया। रैकेट चलाने वाली एक डॉक्टर, आशा कार्यकर्ता समेत तीन फरीदाबाद के हैं जबकि दो आरोपी उत्तर प्रदेश के दादरी के निवासी हैं। यह कार्रवाई ड्यूटी मजिस्ट्रेट दिनेश कुमार के नेतृत्व में की गई।

स्वास्थ्य विभाग की टीम ने शनिवार को बल्लभगढ़ इलाके में छापा मारा। डॉ. हरजिंद्र ने बताया कि विभाग को सूचना मिली थी कि आदर्श नगर स्थित विनायक नर्सिंग होम संचालिका डॉ. आशा यादव और जवाहर कॉलोनी निवासी आशा कार्यकर्ता मीना फरीदाबाद से ग्राहकों को भ्रूण लिंग जांच के लिए दादरी लेकर जाती हैं।

सूचना के आधार पर विभाग की टीम ने एक महिला को नकली ग्राहक बनाकर नर्सिंग होम पर भेजा। आशा ने उसे दादरी (यूपी) में जांच कराने के लिए कहा। ग्राहक इस पर राजी हो गई। आशा का बेटा दुष्यंत उर्फ सैंकी ग्राहक के साथ दादरी पहुंचा। स्वास्थ्य विभाग की टीम उनके पीछे थी।

दादरी पहुंचने पर आशा के बेटे ने ग्राहक की मुलाकात बबीता और रिंकू से कराई। वे ग्राहक को केजीपी फ्लाईओवर के पास लेकर गए। कुछ देर बाद नीरज और दुष्यंत एक अन्य व्यक्ति को लेकर मौके पर पहुंचे। इस दौरान आरोपियों को स्वास्थ्य विभाग टीम होने का शक हो गया। उन्होंने ग्राहक का चलती कार में अल्ट्रासाउंड कर दिया और मौके से फरार हो गए। टीम बबीता और रिंकू को गिरफ्तार कर फरीदाबाद ले आए। बाद में डॉ. आशा यादव, मीना व निरंजन को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

सीएमओ डॉ. विनय कुमार ने कार्य संभालते ही भ्रूण जांच करने वालों पर नजर रखने की हिदायत दी थी। करीब दो माह पहले टीम ने दिल्ली के द्वारका में रेड मारकर अवैध भ्रूण जांच करने वाले रैकेट को पकड़ा था। इससे बल्लभगढ़ में अवैध एमटीपी केस में एक सरकारी नर्स पकड़ी गई थी।