दूसरे टेस्ट में विराट की जगह किस खिलाड़ी को मिलेगा टीम में मौका?

टेस्ट

भारत और न्यूजीलैंड के बीच पहला टेस्ट मैच रहाणे की अगुवाई में ड्रॉ हो गया। दूसरे टेस्ट में भारत के नियमित कप्तान विराट कोहली टीम में उपलब्ध होंगे। दूसरे टेस्ट में कोहली के आने से उपकप्तान रहाणे की टीम से छुट्टी हो सकती है क्योंकि ये लंबे समय से आउट ऑफ फॉर्म चल रहे हैं। दरअसल, रहाणे ने साल 2021 में 8 बार सिंगल डिजिट पर ही आउट हुए हैं। 2013 में अजिंक्य के टेस्ट डेब्यू के बाद से ये पहला मौका है, जब उनका बैटिंग औसत 20 से नीचे रहा है। इंग्लैंड दौरे की 7 पारियों में भी उनका बल्ला एकदम खामोश नजर आया। वहीं रहाणे केवल एक फिफ्टी के साथ महज 109 रन ही बना सके थे।


खबरों के अनुसार कप्तान कोहली टीम में विकेटकीपर ऋद्धिमान साहा की जगह पर वापसी कर सकते हैं। अगर दूसरे टेस्ट मैच में मयंक की जगह भरत और साहा की जगह विराट प्लेइंग-XI में आते हैं, तो पुजारा और रहाणे दोनों अंतिम एकादश में बने रहेंगे। वैसे साहा कानपुर टेस्ट मैच में पूरी तरह से फिट नहीं थे। हालांकि गर्दन में दर्द के चलते साहा न्यूजीलैंड की पहली और दूसरी पारी के दौरान कीपिंग के लिए भी नहीं आए थे। उनके बाहर बैठने पर भरत विकेटकीपिंग किए थे।

वहीं पहले टेस्ट में अश्विन-जडेजा ने अपने फिरकी गेंदबाजी से अपनी तरफ मोड़ ही लिया था लेकिन रचिन रंविद्र और एजाज पटेल की जोड़ी ने मेहनत पर पूरी तरह से पानी फेर दिया। इन दोनों की जोड़ी ने 52 गेंदों का सामना करते हुए अपने टीम को हारने से बचा लिया। रचिन ने विकेट बचाने के लिए 91 गेंद खेली तो पटेल ने 23 गेंदों का सामना किया।


वैसे आखिरी सेशन दोनों टीमों के लिए काफी रोमांचक रहा। अंतिम सत्र के खेल में भारत को जीत के साथ सीरीज में बढ़त बनाने के लिए सिर्फ 6 विकेट की दरकार थी। जबकि कीवी टीम को मैच ड्रॉ कराने के लिए 31.5 ओवर बैटिंग करनी थी। वहीं टीम इंडिया के गेंदबाजों ने अपने आखिरी सत्र में कमाल का खेल दिखाया और 64 ओवर से लेकर 89 ओवर के बीच कीवी टीम के एक के बाद एक 5 विकेट झटके। वहीं रचिन (4) और पटेल (2) ने 10वें विकेट के लिए 52 गेंदों पर नाबाद 10 की साझेदारी करते हुए भारत की जीत के सपने को साकार नहीं होने दिया। वहीं भारत जब आखिरी विकेट तलाश में थी तो कई बार खराब रोशनी केल काऱण कुछ ओवर्स को बढ़ाना पड़ा। लेकिन आखिरकार कीवी टीम ने मैच ड्रॉ कर ही दिया। वहीं दूसरी पारी में भारत के तरफ से जडेजा ने 4 और अश्विन ने 3 विकेट लिए लेकिन भारत को जीत नहीं दिला सके।

आप चूक गए होंगे