छत्तीसगढ़ कांग्रेस में रार, राहुल गांधी ने की सीएम भूपेश और टीएस देवसिंह से मुलाकात छत्तीसगढ़ में एक बार फिर कांग्रेस नेताओं के बीच आपसी मतभेद की खबरें आना शुरु हो गई हैं।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और स्वास्थ्य मंत्री टीएस देव सिंह के बीच चल रही अंदरुनी कलह का खामियाज़ा कहीं पार्टी को ना भुगतना पड़े इसके लिए कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और वायनाड से सांसद राहुल गांधी ने आज दोनों नेताओं से मुलाकात की। राहुल गांधी के साथ हुई इस मीटिंग में कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल और पार्टी के छत्तीसगढ़ प्रभारी पीएल पूनिया मौजूद रहे। बता दें, कांग्रेस नेतृत्व ने राजस्थान और पंजाब कांड से सबक लेते हुए समय रहते छत्तीसगढ़ में चल रही गुटबाजी और आपसी मतभेदों को खत्म करने की कोशिश शुरु कर दी है। इसी सिलसिले में राहुल गांधी लगातार पार्टी के नेताओं से बातचीत कर रहे हैं और छत्तीसगढ़ में चल रही अटकलों को सुलझाने की कोशिश कर रहे हैं। दरअसल, छत्तीसगढ़ कांग्रेस के बीच चल रहा यह विवाद पुराना है। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव के समर्थकों ने दावा किया है कि साल 2018 में जब राज्य में कांग्रेस की सरकार बनी थी तब दोनों नेताओं के बीच ढाई-ढाई साल के लिए मुख्यमंत्री पद को लेकर सहमति बनी थी। उनका कहना है कि अब भूपेश बघेल का समय पूरा हो चुका है ऐसे में अब टीएस सिंहदेव को मुख्यमंत्री की गद्दी पर बैठाया जाना चाहिए। वहीं, दूसरी तरफ यह विवाद तब और गहरा गया जब सीएम बघेल के खेमे के एक विधायक ने स्वास्थ्य मंत्री पर जान से मारने का आरोप लगाया। कांग्रेस विधायक बृहस्पति सिंह ने स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव पर आरोप लगाया था कि वह उनकी हत्या करवाकर मुख्यमंत्री बनना चाहते हैं।
गौरतलब है, दोनों नेताओं से बातचीत के बाद कांग्रेस आलाकमान ने अभी तक कोई प्रतिक्रिया तो नहीं दी है लेकिन भूपेश बघेल के मुख्यमंत्री बने रहने पर ससपेंस अभी बरकरार है।

About Post Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.

आप चूक गए होंगे