कोरोना को मात देने के लिए पाकिस्तान में स्मार्ट लॉकडाउन पर काम शुरू

काजल शर्मा

पाकिस्तान में कोरोना वायरस के एक दिन में रिकॉर्ड 2870 नए मामले सामने आने से संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 33,330 हो गई है। इसी के साथ अब तक 639 लोगों ने अपनी जान गवा दी है। कोरोना के लगातार बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए पाकिस्तान ने तकनीक का सहारा लेने का फैसला किया है। इमरान सरकार ने कोरोना से निपटने और आर्थिक स्थिति को देखते हुए “स्मार्ट लॉकडाउन”नामक योजना पर काम करना शुरू कर दिया है। पाकिस्तान के योजना मंत्री असद उमर ने बताया कि “स्मार्ट लॉकडाउन” के अंदर लॉकडाउन में कई रियायत दी गई है। ताकि कम आय वर्ग के लोगों को किसी भी प्रकार की परेशानी का सामना ना करना पड़े। उन्होंने कहा कि इसका मतलब यह नहीं है कि सभी एहतियाती कदम वापस ले लिए गए हैं। उमर ने कहा हॉटस्पाट इलाकों की पहचान करने के लिए तकनीक का इस्तेमाल किया जाएगा। इसी के साथ एक वेब पोर्टल बनाया जाएगा और सभी अस्पतालों को आंकडे उपलब्ध कराने होंगे। ताकि कोविड-19 से जुड़ी सभी जानकारी की उपलब्धता सुनिश्र्चित हो सके। मंत्री ने बताया कि पंजाब सरकार ने एक एप तैयार किया है। जिसकी मदद से लोग आस-पास के अस्पताल में खाली बेड व वेंटीलेटर की जानकारी ले सकेंगे। उन्होंने लोगों से आग्रह करते हुए कहा कि वायरस के कहर को रोकने के लिए हर नागरिक की यह जिम्मेदारी है कि वह सभी एहतियात बरते।