डोनाल्ड ट्रंप ने प्रेस कॉन्फ्रेंस से की तौबा, अब हर दिन नहीं करेंगे कोरोना पर पत्रकारों से बात

सोनाली नौटियाल

इन दिनों अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप कोरोना पर दिए गए अपने बयान को लेकर चर्चा में बने हुए हैं। पिछले दिनों व्हाइट हाउस में हुई कोरोना वायरस को लेकर हुई वार्ता में ट्रंप ने अपने देश के लोगों से कहा कि कोरोना के संक्रमण से बचना है तो सभी को कीटनाशक पीना चाहिए। इसके बाद ट्रंप के बयान को लेकर विवाद छिड़ गया। इस के दो दिन बाद ट्रंप ने ट्वीट कर कहा है कि कोरोना पर हर रोज प्रेस वार्ता करना जरूरी नहीं है। इन दिनों प्रेस वार्ता के कारण टीवी रेटिंग्स इंटरव्यू के अनुसार होती है और ऐसा होने के कारण लोगों में कुछ नई फर्जी खबरें फैल जाती हैं। ट्रंप ने यह भी कहा है कि ऐसा माहौल बनाने से समय और प्रयास दोनों की बर्बादी है। ट्रंप ने गुरुवार को हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस में सभी को यह कहकर चौंका दिया कि डॉक्टर कोरोनावायरस संक्रमित मरीजों को रोगाणुनाशक टीके लगाकर इलाज कर रही है। यह सुनकर डॉक्टर से लेकर साइंटिस्ट सभी चकित हो गए। इसकी काफी आलोचना होने के बाद डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि इस बात को लेकर वह व्यंग कर रहे थे। उनकी इस बात को कोई दूसरे रुप में न लें। बता दें कि इन दिनों अमेरिका कोरोनावायरस संक्रमित देशों में सबसे शीर्ष स्थान पर है। आंकड़ों के मुताबिक अभी तक 53,511 से ज्यादा मृतकों की संख्या हो चुकी है और वही 9,24,576 से ज्यादा लोग कोरोनावायरस महामारी से संक्रमित हैं।