रोजगार छिनने पर भगवान को ठहराया जिम्मेदार, युवक ने गुस्से में तोड़ी मंदिर की मूर्तियां, गिरफ्तार

आईआईएमटी न्यूज डेस्क, ग्रेटर नोएडा



कोरोना महामारी के बाद कई लोगों की नौकरी गई तो कई लोगों को घर खाली करना पड़ा, कारण था लॉकडाउन। इसी बीच दिल्ली के पंजाबी बाग थानाक्षेत्र में विक्की नाम एक युवक ने नौकरी छिन जाने का ठीकरा भगावान के सर फोड़ दिया। एक स्थानीय मंदिर जाकर उस युवक ने भगवान से पंगा लेते हुए मूर्तियों को तोड़ दिया। जिस समय विक्की मूर्तियों के साथ तोड़फोड़ कर रहा था उस समय मंदिर का पुजारी वहां मौजूद नहीं था लेकिन हरकत सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई। मंदिर के पुजारी रंजीत ने बताया कि देर रात वह मंदिर से वापस घर गया था तब सब कुछ सही था। सुबह 5.30 बजे के करीब जब वह वापस आया तो उसने देखा कि मंदिर की मूर्तियां टूटी पड़ी हैं और इधर-उधर पत्थर बिखरे हुए हैं। ये सब देखकर पुजारी रंजीत ने सुबह 8.45 के करीब पुलिस को घटना संबंधी सूचना दी। जिला के अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त प्रशांत गौतम ने कहा कि पुजारी रंजीत की शिकायत पर पंजाबी बाग थाना पुलिस ने सीसीटीवी कैमरे की फुटेज की मदद से आरोपी विक्की को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी ने अपना गुनाह कबूल करते हुए कहा कि मैं रोजगार छिन जाने के बाद भगवान से बहुत ज्यादा नाराज था इसीलिए मैंने ये कदम उठाया।