सुपरटेक ट्विन टावर के मामले में एसआईटी की जांच पूरी, अब लखनऊ से खुलेगा राज

दीपक, आईआईएमटी न्यूज डेस्क, ग्रेटर नोएडा



सुपरटेक एमराल्ड कोर्ट प्रोजेक्ट के ट्विन टावर गिराने के मामले में पड़ताल कर विशेष जांच टीम (एसआईटी) गुरुवार को लखनऊ लौट गई। चार सदस्यीय टीम अब रिपोर्ट प्रदेश शासन को सौंपेगी। टीम ने जांच से संबंधित सभी तथ्य फिलहाल पूरी तरह गोपनीय रखे हैं। माना जा रहा है कि रिपोर्ट में एक आईएएस समेत कुछ अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के नाम शामिल किए गए हैं। इसके चलते प्राधिकरण अधिकारियों की धड़कन भी तेज हो गई है। अधिकारियों का कहना है कि अब लखनऊ से ही इस बात का राज खुलेगा कि ट्विन टावर मामले में आखिर किस-किस पर गाज गिरेगी। सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद शासन ने एसआईटी का गठन किया था। सुबह करीब साढे़ आठ बजे ही टीम के सदस्य एमराल्ड कोर्ट स्थित ट्विन टावर पहुंचे। इस दौरान प्राधिकरण की सीईओ रितु माहेश्वरी, एसीईओ नेहा शर्मा और नियोजन विभाग के महाप्रबंधक इश्तियाक अहमद भी मौजूद रहे। टीम ने एमराल्ड कोर्ट के आरडब्ल्यूए अध्यक्ष राजेश राणा को भी बुला लिया। इसके बाद टावरों के बीच की दूरी पर चर्चा हुई। टीम ने सोसाइटी का भी चक्कर लगाया। आरडब्ल्यूए अध्यक्ष राजेश राणा ने बताया की जांच टीम करीब 15 मिनट तक मौका मुआयना करने के बाद चली गई। निरीक्षण के दौरान टीम ने वीडियो रिकार्डिंग भी की। एसआईटी जांच पूरी होने के साथ ही माना जा रहा है कि प्राधिकरण के कुछ अधिकारियों और कुछ पूर्व अधिकारियों के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज कराया जा सकता है।