आरएसएस के मंसूबे खतरनाकः प्रियंका गांधी

आईआईएमटी न्यूज, दिल्ली। आरएसएस का हौसला बढ़ा हुआ है और मंसूबे खतरनाक हैं। आरएसएस प्रमुख आरक्षण पर बहस के बहाने कथित तौर सामाजिक न्याय पर निशाना साधना चाहते है। प्रियंका गांधी ने मंगलवार को यह बाते अपने ट्वीट में कही। पिछले दिनों राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत ने आरक्षण को लेकर बहस करने की जरूरत पर बयान दिया था। इसमें उन्होंने कहा था कि जो लोग इसके विरोध में हैं और पक्ष में हैं वह अपनी बात रखें। भागवत के बयान के बाद एक बाद फिर से आरक्षण मुद्दे पर राजनीति गर्म हो गई है। वहीं भागवत के बयान पर बिहार के पूर्व उप-मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने भी निशाना साधा है। तेजस्वी ने कहा है कि आरक्षण को लेकर आरएसएस और भाजपा की मंशा ठीक नहीं है। दूसरी तरफ भाजपा सरकार की सहयोगी पार्टी के प्रमुख रामविलास पासवान ने कहा है कि आरक्षण के मुद्दे पर किसी बहस की जरूरत नहीं है। आरक्षण समाज के कमजोर वर्गो का संवैधानिक अधिकार है।



दूसरी तरफ आरएसएस प्रमुख के बयान पर आरजेडी के सांसद मनोज झा ने भी निशाना साधा है। झा ने कहा कि आरक्षण को छेड़ना आग से खेलने की कोशिश है।