प्रधानमंत्री ने किया शिक्षक पर्व का आगाज, वर्चुअल माध्यम से किया जनता को संबोधित

आईआईएमटी न्यूज़ डेस्क, ग्रेटर नोएडा।



प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज 7 सितंबर से 17 सितंबर तक मनाए जाने वाले शिक्षक पर्व की शुरूआत कर दी है। पूरे देश में मनाए जाने वाले इस पर्व की शुरूआत आज प्रधानमंत्री ने वर्चुअल मोड से की। इस दौरान पीएम ने शिक्षा क्षेत्र से संबंधित पांच योजनाओं को लॉन्च किया है। इन योजनाओं में निष्ठा टीचर ट्रेनिंग प्रोग्राम, विद्यांजलि पोर्टल, सीबीएसई स्कूल क्वालिटी एश्योरेंस एंड असेसमेंट फ्रेमवर्क, इंडियन साइन लेंग्वेज डिक्शनरी और टॉकिंग बुक्स योजनाएं शामिल हैं। बता दें पीएम ने इस प्रोग्राम को संबोधित करते हुए बताया कि शिक्षक पर्व के अवसर पर लॉन्च हुईं ये नई योजनाएं बेहद अहम हैं। क्योंकि देश अभी आज़ादी का अमृत महोत्सव मना रहा है। उन्होंने बताया कि आजादी के 100 वर्ष होने पर भारत कैसा होगा, इसलिए देश इसके लिए अभी से नया संकल्प ले रहा है। वहीं पीएम मोदी ने न्यू एजुकेशन पॉलिसी पर चर्चा करते हुए बताया कि इसके निर्माण से लेकर क्रियान्वन तक प्रत्येक स्तर पर अध्यापकों, विशेषज्ञों और अन्य का भरपूर योगदान रहा है। पीएम ने सभी शिक्षाविदों की प्रशंसा करते हुए कहा कि आप सभी की भागीदारी से बनी शिक्षा प्रणाली को अब हमें नए स्तर पर ले जाना है। साथ ही समाज को भी जोड़ने का भरपूर प्रयास करना है।
गौरतलब है, साल 2021 में आयोजित किए जाने वाले शिक्षक पर्व का विषय “गुणवत्ता और सतत विद्यालय अर्थात भारत में विद्यालयों से ज्ञान प्राप्ति” है। बता दें इस कार्यक्रम का आयोजन 12 दिनों तक पूरे प्रदेश में किया जाएगा। यह पर्व न केवल सभी स्तरों पर शिक्षा की निरंतरता सुनिश्चित करने, बल्कि देश भर के स्कूलों में गुणवत्ता, समावेशी प्रथाओं और स्थायित्व में सुधार के लिए नवीन तौर-तरीकों को प्रोत्साहित करेगा।