फिरोजाबाद पर छाया डेंगू और बुखार का संकट, 400 से अधिक बच्चे अस्पताल में भर्ती, 50 की मौत

आईआईएमटी न्यूज़ डेस्क, ग्रेटर नोएडा



चूड़ियों के लिए प्रसिद्ध फिरोजाबाद पर इन दिनों डेंगू और बुखार नाम के बादल छाये हुए हैं। इन बीमारियों से सबसे अधिक मासूम बच्चे प्रभावित हो रहे हैं। आलम यह है कि लोग अपनी जान बचाने के लिए पलायन को मजबूर हो रहे हैं। बता दें, बीते कई दिनों से क्षेत्र के कुछ इलाकों में रहस्यमयी बुखार ने कब्जा कर रखा है जिसका सबसे अधिक असर बच्चों पर हो रहा है। खबरों के मुताबिक, फिरोजाबाद स्थित मेडिकल कॉलेज में अब तक 400 से अधिक बच्चों को भर्ती कराया जा चुका है। जिले के प्राइवेट अस्पतालों में भी बुखार से ग्रस्त बच्चों का इलाज चल रहा है। हाल यह है कि अब अस्पतालों में मरीजों के लिए जगह तक नहीं बची है इसी वजह से एक ही बेड पर दो बच्चों को लिटाया जा रहा है।
शहर के अधिकांश अस्पताल पूरी तरह से फुल हो चुके हैं जिसकी वजह से बच्चों को अस्पताल में इलाज नहीं मिल पा रहा है। इसी सिलसिले में बच्चों की सुरक्षा के मद्देनजर उनके तीमारदार उन्हें साथ लेकर शहर से बाहर जाने को मजबूर हो रहे हैं। वहीं, तेजी से बढ़ रही इन समस्याओं से स्वास्थ्य महकमें में भी हड़कंप मचा हुआ है। अचानक इतने मरीज मिलने से स्वास्थ्य विभाग पर भी प्रेशर पड़ रहा है। हालत यह है कि मरीज को जहां जगह मिल रही है, वह इलाज के लिए वहीं भर्ती हो रहा है। जिन मरीजों की हालत में हल्का सा भी सुधार हो रहा है उनको अस्पताल से छुट्टी दे दी जा रही है। डॉक्टर्स यह निर्णय इसलिए ले रहे हैं ताकि गंभीरवस्था में आने वाले मरीजों को वार्ड में भर्ती किया जा सके।
वहीं, मुख्यचिकित्सा अधिकारी आलोक शर्मा ने शनिवार को प्रेस रिलीज जारी कर बताया कि शहर में डेंगू और बुखार से अब तक 50 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 400 से ज्यादा मरीज अस्पताल में भर्ती हैं। गौरतलब है, फिरोजाबाद में उत्तपन्न हुई भयावह स्थिति पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ नजर बनाए हुए हैं। वे लगातार जिले के अधिकारियों से अपडेट ले रहे हैं। साथ ही बेहतर से बेहतर इलाज मुहैया कराने के निर्देश दे रहे हैं।