बोकारो से रवाना हुई ऑक्सीजन एक्स्प्रेस आज सुबह पहुंची यूपी

आईआईएमटी न्यूज डेस्क, ग्रेटर नोएडा



उत्तर प्रदेश में तेजी से फैल रहे कोरोना संकट के बीच सबसे घातक समस्या बनी हुई है ऑक्सीजन की कमी। जिसको खत्म करने की कवायत जारी है। बीते कई दिनों से राज्य के कई जिले ऑक्सीजन की किल्लत से जूझ रहे हैं। अस्पतालों में मरीज बिना ऑक्सीजन के दम तोड़ रहे हैं। लेकिन अब उनके लिए राहत भरी खबर है। ऑक्सीजन संकट से निपटने के लिए प्रदेश सरकार ने बुधवार को बोकारो से लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन मंगाई थी। जिसकी खेप आज सुबह यूपी पहुंच गई।
इस मौके पर यूपी के अतिरिक्त मुख्य सचिव (गृह) अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि ऑक्सीजन के दो टैंकर सुबह 6:30 बजे लखनऊ पहुंचे जबकि एक टैंकर वाराणसी में उतार दिया गया। एक टैंकर की क्षमता 15 हजार लीटर है। दोनों टैंकर का उपयोग लखनऊ के अस्पतालों में किया जा सकता है। हांलाकि, इस विषय पर अभी निर्णय नहीं लिय़ा गया है। अवस्थी ने आगे कहा कि, दो टैंकरों के आने से लखनऊ में ऑक्सीजन की आधी जरूरत पूरी हो जाएगी। अब शहर की स्थिति में सुधार होगा।
बता दें, वाराणसी के अस्पतालों में ऑक्सीजन खत्म होने की कगार पर है जिसके कारण कोरोना संक्रमितों की जान पर खतरा बना हुआ है। वहीं, झारखंड के बोकारो से रवाना हुई ऑक्सीजन एक्सप्रेस पर तीन टैंकर लोड किए गए थे। जिनमें से एक टैंकर को वाराणसी में उतारकर रामनगर ऑक्सीजन प्लांट भेज दिया गया है।
गौरतलब है, बोकारो से उत्तर प्रदेश के लिए दूसरी ऑक्सीजन एक्सप्रेस आज सुबह साढ़े 5 बजे चल दी है। इस एक्सप्रेस पर चार टैंकर लोड किए गए हैं। इनके आने से सूबे में ऑक्सीजन की कमी को खत्म करने की संभावना बनी हुई है। हांलाकि यूपी में तेजी से फैल रहे कोरोना संक्रमण ने त्राहिमाम मचा रखा है। इस पर काबू पाने के लिए राज्य सरकार भरसक प्रयास कर रही है।