बड़ा झटका : अफगानिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति अशरफ गनी का भाई तालिबान में शामिल, आतंकी संगठन हुआ और मजबूत

काजल शर्मा, आईआईएमटी न्यूज़ डेस्क, ग्रेटर नोएडा



घर का भेदी लंका ढाए इस कहावत को सच करते हुए अफगानिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति अशरफ गनी का भाई हशमत तालिबान के साथ जुड़ गया है| इस खबर ने पूरी दुनिया को झँझोड़ के रख दिया है| तालिबान के अफगानिस्तान पर कब्जे के दौरान 15 अगस्त को अशरफ गनी अपने परिवार के साथ चार्टर्ड विमान से देश छोड़कर भाग गए और उन्होंने यूएई में शरण ले ली| सूत्रों के मुताबिक, अशरफ गनी ने सबसे पहले अमेरिका में शरण मांगी थी लेकिन अमेरिका ने मदद नहीं करी| उसके उपरांत, यूएई ने उन्हें शरण दी| तालिबान के कब्जे के बाद अफगानिस्तान के नागरिकों की स्थिति बहुत बदतर हो गई है| अफगानिस्तान की महिलाओं और बच्चों की स्थिति बहुत दुखद हो गई है| सूत्रों के मुताबिक हशमत गनी अशरफ गनी का भाई है| वह अफगानिस्तान की राजनीति और कूटनीति को बहुत अच्छी तरह से जानता है| इस बात का सीधा फायदा तालिबानियों को होगा | हशमत गनी पहले से ही तालिबान का समर्थन करता था और जैसे ही तालिबानियों ने अफगानिस्तान पर कब्जा किया वह भी उनके साथ शामिल हो गया | इस खबर से पूरी दुनिया दहशत में है|