देश में किसानों की आवाज को नहीं जा रहा सुना: राहुल गांधी

आईआईएमटी न्यूज डेस्क, ग्रेटर नोएडा



इस समय देश की संसद में मानसून सत्र चल रहा है। इस सत्र में केंद्र सरकार को भी कई बिल पास कराने हैं। दूसरी तरफ विपक्ष लगातार कई मुद्दों को लेकर सरकार को कटघरे में खड़ा करने की पुरजोर कोशिश में लगा है। इसी कड़ी में पिछले एक साल से किसान तीन बिलों की वापसी को लेकर दिल्ली के बार्डर पर विरोध प्रर्दशन कर रहे हैं। आज किसानों के समर्थन में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी उस समय सभी को चकित कर दिया जब वह जब वह दिल्ली की सड़कों पर ट्रैक्टर चलाते हुए नजर आए। राहुल किसान आंदोलन के समर्थन में ट्रैक्टर चलाकर संसद भवन पहुंचे। राहुल गांधी के साथ ट्रैक्टर पर रणदीप सुरजेवाला, बीवी श्रीनिवास और दीपेंद्र हुड्डा समेत अन्य कई कांग्रेसी नेता नजर आए। इस दौरान सुरजेवाला और श्रीनिवास को हिरासत में ले लिया गया है।
इस मौके पर राहुल गांधी ने कहा कि देश में किसानों की आवाज को सुना नहीं जा रहा है। मोदी सरकार को इन तीनों काले कृषि कानूनों के वापस लेना होगा। इसी के साथ वायनाड से सांसद राहुल गांधी ने कहा कि किसानों को लेकर गलत बयानबाजी हो रही है यहां तक की देश के अनदाता को आतंकवादी तक कहा जा रहा है। साथ ही राहुल ने ट्वीट करते हुए लिखा कि किसानों के समर्थन में राहुल गांधी का ट्वीट-'अगर खेत बेचने पर मजबूर करोगे तो ट्रैक्टर संसद में चलेगा' बता दें कि पिछले करीब एक साल से किसानों के संगठन दिल्ली के टिकरी, सिंघु और गाजीपुर बॉर्डर पर धरने पर बैठे हैं।

किसान इस बात पर अड़े हैं कि तीनों कानून वापस हो इसके लिए किसान और सरकार के बीच कई दौर की बातचीत हो चुकी है लेकिन अभी तक कोई सार्थक नतीजा नहीं निकला है। जबकि सरकार को कहना है कि किसी भी कीमत पर कानूनों को वापस नहीं लिया जाएगा हां इनमें कुछ संशोधन हो सकता है। दूसरी तरफ मानसून सत्र में विपक्ष के हंगामे के कारण संसद को बार-बार स्थागित करना पड़ रहा है।