आईएनएक्स मीडिया मामले में तलब किये गए पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम, कोर्ट में पेश होने से मांगी राहत

आईआईएमटी न्यूज डेस्क, ग्रेटर नोएडा



आईएनएक्स मीडिया धनशोधन मामले में आरोपी पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम ने अदालत से राहत मांगी है। उन्होंने चुनावों में व्यस्त होने का हवाला देते हुए कोर्ट में पेश न होने मांग की है। बता दें, चिदंबरम पर आईएनएक्स मीडिया धनशोधन मामले में भ्रष्टाचार का आरोप है। जिसके संबंध में दिल्ली की एक अदालत ने 24 मार्च 2020 को पूर्व केंद्रीय मंत्री, उनके बेटे कीर्ति और उनके सीए एस एस भास्कर को समन जारी किया था। जस्टिस एम के नागपाल ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता के खिलाफ जारी किये गए समन में 7 अप्रैल 2020 को पेश होने का आदेश दिया था।
मालूम हो, प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम के खिलाफ अदालत में आईएनएक्स मीडिया समूह के साथ मिलकर मनी लॉन्डरिंग का आरोप लगाते हुए आरोपपत्र दायर किया था।
क्या है आईएनएक्स मीडिया मनी लॉन्डरिंग मामला?
15 मई 2017 को सीबीआई ने पूर्व केंद्रीय वित्तमंत्री पी चिदंबरम के खिलाफ एक मामला दर्ज किया था। चिदंबरम पर आरोप है कि वर्ष 2007 में वित्तमंत्री के कार्यकाल के दौरान 305 करोंड़ रुपये का विदेशी धन प्राप्त करने के लिए आईएनएक्स मीडिया समूह को विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड (एफआईबीपी) की मंजूरी में अनियमितता पाई गई थी। जिसके बाद ईडी ने कांग्रेस नेता के खिलाफ मनी लॉन्डरिंग का केस दर्ज किय़ा था।