हिमाचल के पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह का निधन, तीन दिन के राज्यकीय शोक की घोषणा

आईआईएमटी न्यूज डेस्क, ग्रेटर नोएडा



हिमाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता वीरभद्र सिंह का गुरूवार को निधन हो गया है. शिमला के इंदिरा गांधी मेडिकल कॉलेज में गुरुवार को उन्होंने अंतिम सांस ली। तीन महीने में दो बार कोरोना से ठीक होने के बावजूद वीरभद्र 23 अप्रैल से आईजीएमसीएच में भर्ती थे।
वह करीब ढाई महीने से आईजीएमसी में दाखिल थे। सोमवार को अचानक तबीयत खराब होने के बाद डॉक्टरों ने उन्हें वेंटिलेटर पर दाखिल कर दिया था जिसके बाद से वह बेहोशी की हालत में यहां पर उपचाराधीन थे। लेकिन वीरवार सुबह 3:40 मिनट पर उनकी मौत हो गई। बता दें कि 87 साल की उम्र तक पहुंचते-पहुंचे वह छह बार हिमाचस के मुख्यमंत्री रह चुके थे। वह नौ बार विधायक, पांच बार सांसद रह चुके हैं. वर्तमान में वह सोलन जिले के अरकी से विधायक थे. वीरभद्र सिंह का जन्म 23 जून, 1934 को बुशहर रियासत के राजा पदम सिंह के घर में हुआ। लोकसभा के लिए वह पहली बार 1962 में चुने गए। उसके बाद 1967, 1971, 1980 और 2009 में भी चुने गए। वीरभद्र वर्ष 1983 से 1990, 1993 से 1998, 1998 में कुछ दिन तक तीसरी बार, फिर 2003 से 2007 और 2012 से 2017 में हिमाचल के मुख्यमंत्री रहे।