पर्यावरणविद् सुंदरलाल बहुगुणा का कोरोना से निधन, एम्स में थे भर्ती

आईआईएमटी न्यूज डेस्क, ग्रेटर नोएडा



उत्तराखंड के ऋषिकेश में एम्स में भर्ती पर्यावरणविद् सुंदरलाल बहुगुणा का शुक्रवार दोपहर 12 बजे निधन हो गया। वे कोरोना संक्रमित थे। बता दें, कोरोना पीड़ित बहुगुणा निमोनिया से भी जूझ रहे थे। इस दौरान उन्हें इलाज के लिए सिपेप मशीन सपोर्ट पर रखा गया था। लेकिन उनका ऑक्सीजन लेवल इतना कम हो गया कि चिकित्सक उन्हें बचा नहीं सके और 94 वर्ष की आयु में उनका देहावसान हो गया।
चिपको आंदोलन के प्रणेता के देहांत की खबर से पूरे राज्य में शोक की लहर दौड़ गई। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने पद्मविभूषण सुंदरलाल बहुगुणा के निधन को अपूर्णीय क्षति बताते हुए शोक व्यक्त किया है। उन्होंने कहा, "चिपको आंदोलन को जन जन का आंदोलन बनाने वाले श्री सुंदरलाल बहुगुणा जी का निधन न केवल उत्तराखण्ड और भारतवर्ष बल्कि समस्त विश्व के लिये अपूरणीय क्षति है। सामाजिक सरोकारों व पर्यावरण के क्षेत्र में आई इस रिक्तता को कभी नहीं भरा जा सकेगा। ईश्वर दिवंगत आत्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान दें, और शोकाकुल परिजनों को धैर्य व दुख सहने की शक्ति प्रदान करें"।