अमेरिका में 12 वर्ष से 15 वर्ष के बच्चों को लगेगी कोरोना वैक्सीन

आईआईएमटी न्यूज डेस्क, ग्रेटर नोएडा



कोरोना वायरस महामारी का प्रकोप पूरी दुनिया झेल रही है। इस महामारी से लड़ने के लिए सभी देश हर मुमकीन प्रयास कर रहे हैं। महामारी से सबसे ज्यादा प्रभावित हुए अमेरिका ने कोरोना के खिलाफ एक बड़ा कदम उठाया है। अमेरिका के खाद्य एवं दवा प्रशासन, एफडीए के कार्यकारी आयुक्त डॉक्टर जेनेट वुडवॉक ने 12 वर्ष से लेकर 15 वर्ष की उम्र के बच्चों के लिए भी फाइजर की कोरोना वैक्सीन को आपात स्थिति में इस्तेमाल करने की मंजूरी दे दी है।
डॉक्टर जेनेट वुडवॉक ने कोरोना वैक्सीन को मंजूरी देते हुए आगे यह भी कहा की यह निर्णय हमें कोरोना से लड़ने में मदद करेगा और सामान्य स्थिति में लौटने के करीब ले जाएगा।
बता दें की 16 वर्ष या उससे ज्यादा उम्र वाले लोगों के लिए फाइजर वैक्सीन लगाने की अनुमति एफडीए ने पहले ही दे दी थी। भारत में कोरोना वायरस का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है और भारत में कोरोना तीसरी लहर आ गई है। विशेषज्ञों के मुताबिक कोरोना की तीसरी लहर से बच्चों पर काफी प्रभाव पड़ेगा। ऐसे में अमेरिका के खाद्य एवं दवा प्रशासन, एफडीए द्वारा उठाया गया यह महत्वपूर्ण कदम भारत के लिए बहुत कारगर साबित हो सकता है।