कोरोना वायरस: रेलवे के 1000 कर्मी रोजाना हो रहे संक्रमित, 1952 की हो चुकी मौत

आईआईएमटी न्यूज डेस्क, ग्रेटर नोएडा



देश में तेजी से फैल रही कोरोना वायरस की दूसरी लहर से रेलवे भी अछूती नहीं है। भारतीय रेलवे में कार्यरत 13 लाख रेलकर्मियों में से रोजाना 1000 कर्मी कोरोना पॉजिटिव पाए जा रहे हैं जबकि 1952 लोगों की संक्रमण से मौत हो चुकी है। रेल बोर्ड के अध्यक्ष सुनीत शर्मा के मुताबिक, रेलवे अपने स्टाफ का पूरा ध्यान रखती है। उन्होंने कहा,"हमारे पास अपने असपताल हैं, हमने उनमें ऑक्सीजन प्लांट बनाए हैं। हमारे पास अपने स्टाफ व उनके परिवार के लिए चार हजार बेड की भी व्यवस्था है। हमारी कोशिश रहती है कि सभी संक्रमित जल्दी से जल्दी ठीक हो सकें।
गौरतलब है कि हाल ही में रेल संघ "ऑल इंडिया रेलवे मैन फेडरेशन" ने केंद्रीय रेल मंत्री पियूष गोयल को पत्र लिखकर फ्रंटलाइन वर्कर्स की तरह रेल कर्मियों की मौत का मुआवजा 50 लाख रुपए करने की मांग की थी। उन्होंने पत्र में लिखा था कि रेलकर्मी भी 50 लाख मुआवजे का हकदार है, न कि 25 लाख रूपये के जिसका भुगतान किया जाता है। बता दें कि फेडरेशन के अध्यक्ष गोपाल मिश्रा के मुताबिक अब तक 1 लाख से अधिक रेलकर्मी कोरोना संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं जबकि 65000 कर्मी कोविड से जंग जीतकर काम पर लौट चुके हैं।