कैप्टन तानिया शेर गिल ने गणतंत्र दिवस परेड में ऑल-मेन टुकड़ी का नेतृत्व करके बढ़ाया गौरव

अनन्या सिंह, ग्रेटर नोएडा



नई दिल्ली: खाकी वर्दी पहनकर एक अधिकृत औपचारिक तलवार के साथ 26 वर्षीय कैप्टन तानिया शेर गिल, ने दिल्ली के राजपथ में 71वें गणतंत्र दिवस की औपचारिक परेड के दौरान अपनी टुकड़ी का नेतृत्व किया। गौरव की बात यह है कि उस टुकड़ी में केवल पुरुष शामिल थे।
यह लगातार दूसरी बार था जब एक महिला अधिकारी ने कोर ऑफ़ सिग्नल टुकड़ी का नेतृत्व किया है। इससे पहले कैप्टन शेरगिल ने ही 15 जनवरी, सेना दिवस समारोह के दौरान केवल पुरुषों की टुकड़ियों का नेतृत्व करके ऐसा करने वाली पहली महिला परेड एडजुटेंट बनकर इतिहास रचा था। अपने एक इंटरव्यू में तानिया ने बताया था कि कम उम्र में ही सेना के प्रति उनके मन में आकर्षण विकसित हो गया था।
बता दें कि, तानिया के परिवार की पिछली चार पीढ़ियों के लोग भारतीय सेना में कार्यरत रहें हैं।
तानिया ने बताया कि "जब मैं छोटी थी, मैं हमेशा फौज (सेना) में शामिल होना चाहती थी। मैंने हमेशा अपने पिता को वर्दी पहनकर तैयार होते हुए देखा था, इसलिए मेरे दिमाग में हमेशा से ही यह बात थी कि एक दिन मैं यह वर्दी ज़रूर कमाऊंगी।”
सेना में महिलाओं के प्रतिनिधित्व पर, कैप्टन शेरगिल ने कहा कि सशस्त्र बलों में प्रवेश किसी व्यक्ति के लिंग, धर्म, जाति या निवास स्थान के आधार पर नहीं हो सकता। "यह योग्यता के आधार पर है। उन्होंने कहा कि यदि आप योग्य हैं, तो आप आगे ज़रूर बढ़ेंगे।