तुलसी के पत्तों में छिपे कई औषधीय गुण

आईआईएमटी न्यूज डेस्क, ग्रेटर नोएडा



तुलसी में सैकड़ों पोषक तत्वों की भरपूर मात्रा होने से शरीर को डिटॉक्सीफाई करने में मदद मिलती है। हिंदू धर्म में तुलसी की पूजा की जाती है। पौराणिक मान्यताओं के अनुसार तुलसी के बिना भगवान को भोग नहीं लगाया जाता है। बता दें, तुलसी में कई महत्वपूर्ण गुण होते हैं जिसके उपयोग से छोटी-बड़ी सभी प्रकार की बीमारियों से छुटकारा पाया जा सकता है। विशेषज्ञों के अनुसार तुलसी में विटामिन सी, जिंक, आयरन, सल्फर समेत कई पोषक तत्व पाए जाते हैं। इसके अलावा खनिज और सिट्रिक, टारटरिक, मैलिक एसिड पाया जाता है। तुलसी के नियमित सेवन से सर्दी, खांसी-जुकाम, बुखार के साथ ब्लड प्रेशर से राहत मिलती है। आर्युवेद में तुलसी को रामबाण उपचार माना जाता है। तुलसी के काढ़े से इम्यूनिटी पॉवर तेजी से बढ़ती है जबकि इसके इस्तेमाल से कॉलस्ट्रोल को बढ़ने से रोकने में काफी मदद मिलती है। चिकित्सकों के मुताबिक, तुसली का नियमित सेवन करने से बढ़ते वजन पर नियंत्रण रखा जा सकता है। बारिश के मौसम में हल्दी और तुलसी का काढ़ा पीने से जुकाम, खांसी, सर्दी और बुखार से बचा जा सकता है। इसके सेवन से पेट से जुड़ी समस्याएं भी धीरे-धीरे समाप्त हो जाती हैं। विशेषज्ञों की सलाह के अनुसार, एसीडिटी की समस्या से पीड़ित लोगों को तुलसी के 2-3 पत्ते रोज सुबह खाली पेट चबाने चाहिए।