रांची के अशोक समेत 8 बड़े होटल्स को बेचकर पैसे कमाएगी सरकार

आईआईएमटी न्यूज़ डेस्क, ग्रेटर नोएडा



नेशनल मोनेटाइजेशन प्लान के तहत सरकार हॉस्पिटेलिटी सेक्टर से बड़ी कमाई की उम्मीद कर रही है। सरकार के प्लान में आईटीडीसी के 8 बड़े होटल को मोनेटाइज करने साथ अगले 4 साल में लीज, विनिवेश, ऑपरेट एंड मेंटनेस के फॉर्मूले को कमाई के लिए अपनाया जा सकता है। जानकारी के मुताबिक नीति आयोग ने आईटीडीसी की प्रॉपर्टी के मोनेटाइज का खाका तैयार कर लिया है। संभवतः अगले 4 साल में नेशनल मोनेटाइजेशन के प्लान में करीब 6 लाख करोड़ जुटाए जा सकते है। इसके अलावा रेलवे, सड़क, टेलीकॉम, हॉस्पिटेलिटी सेक्टर और ट्रांसमिशन से पैसे जुटाए जाएंगे। हाल ही में नीति आयोग ने एक रिपोर्ट पेश की है जिसमें इंडिया टूरिज्म डेवलपमेंट कॉरपोरेशन के पास अशोक समूह के साथ 4 होटल, 4 संयुक्त उपक्रम के होटल शामिल है। इसके अलावा 7 ट्रांसपोर्ट, 14 ड्यूटि फ्री शॉप, 4 कैटगरी आउटलेट औऱ एक साउंड एंड लाइट शो है। इसके तहत सरकार बड़ी कमाई करने का प्लान तैयार कर रही है।
नीति आयोग ने पुडुचेरी का होटल, भुवनेश्वर का कलिंग होटल, रांची का अशोक होटल, पुरी का नीलांचल होटल, रुपनगर का आनंदपुर साहेब होटल, नई दिल्ली का सम्राट व अशोक होटल और जम्मू का अशोक होटल मोनेटाइज करने की तैयारी हो रही है। प्लान के अनुसार पुडुचेरी होटल को ज्वाइंग लीजिंग मॉल, कलिंग को ऑपरेट एंड मेंटनेस, रांची के अशोक होटल औऱ नीलांचल को विनिवेश के साथ आनंदपुर हक ट्रांसफर करने व दिल्ली के सम्राट को सब लीजिंग औऱ जम्मू के होटल को ऑपरेट एंड मेंटनेस मॉडल पर देने की संभावना बन रही है।
मिल रही जानकारी के अनुसार सड़क से 1,60,200, टेलीकॉम से 35,00 करोड़, रेलवे से 1,52,496, वेयर हाउसिंग से 28,900, पावर ट्रांस मिशन से 45,200, पावर जेनरेशन से 39,832, प्राकृतिक गैस पाइपलाइन से 24,462, माइनिंग से 28,747, एविएशन से 20,787, बंदरगाह से 12,828, प्रोडक्ट पाइपलाइन से 22,504, स्टेडियम से 11,450 साथ ही शहरी रियल स्टेट से 15,000 करोड़ की कमाई की जाएगी।