मोबाइल स्कैम में खुला राज, SMS में OTP नहीं सेफ

आईआईएमटी न्यूड डेस्क, ग्रेटर नोएडा



इंटरनेट की दुनिया से जिंदगी आसान हुई है लेकिन हैकर्स की संख्या भी तेजी से बढ़ रही हैं। फ्रॉड बदमाशों ने नई-नई तकनीकि की माध्यम बनाया हैं। हैकर्स की नई स्कीम में किसी फोन नंबर से भेजे गए मैसेज़ को अपने सिस्टम पर रीडायरेक्ट कर लेते हैं। वो टेकस्ट मैसेजिंग सर्विस का प्रयोग करते हैं। इसी चालाकी में यूजर्स के फोन से ओटीपी और लॉगिन लिंक चुरा लेते हैं। मदरबोर्ड के रिपोर्टर जोसेफ कॉक्स ने प्रयोग में अपने निजी नंबर को अंजाम दिया था। हौकर्स सिर्फ $16 का भुगतान कर सर्विस का लाभ उठाते हैं। अधिकांश ऐसी वारदात अमेरिका में हो रही हैं। SMS में OTP में धोखाधड़ी ई- कॉमर्स और अन्य कंपनियों के इस्तेमाल के अलावा डेविट ट्रांजेक्शन में ऑथेंटीकेशन के उपरांत किया जा रहा हैं। ओटीपी पर काबू करने के लिए हैकरों ने एसएमएस टेंपलेट शुरू किया।