मां दुर्गा के बराबर में लगेगी ममता बनर्जी की मूर्ति, बीजेपी नेता ने जताई आपत्ति

आईआईएमटी न्यूज़ डेस्क, ग्रेटर नोएडा



पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में इन दिनों नवरात्रि को लेकर तैयारियां तेज़ हो गई हैं। कोलकाता के बागुईहाटी क्षेत्र के नजरुल पार्क उन्नयन समिति ने मां दुर्गा की मूर्ति के साथ सीएम ममता बनर्जी की एक मूर्ति लगाने का निर्णय लिया है। इसी विषय पर बंगाल में विवाद छिड़ गया है। भाजपा के नेता अर्जुन सिंह ने दीदी पर निशाने साधते हुए कहा है कि इतिहास में जिस भी राजनेता ने अपना आदर्श बनाया है उसे विनाश का सामना करना पड़ा है। उन्होंने आगे कहा है कि बसपा सुप्रीमो मायावती हो या साउथ के बड़े नेता, जिस भी राजनेता की पूजा की गई है, वे विनाश की ओर गए हैं।
बता दें, पूरे देश में अपनी क्ले आर्ट के लिए अलग ही पहचान स्थापित करने वाली मिंटू पाल ने सीएम ममता बनर्जी की मूर्ति बनाने का फैसला किया है। वे इस मूर्ति का निर्माण कुमारतुली स्टूडियो में कर रही हैं। उन्होंने इस मामले पर ज्यादा जानाकरी देते हुए बताया कि ‘’यह विचार कोलकाता में होने वाली थीम पूजा से आया है, इसलिए थीम पूजा के समय सभी क्लब चाहते हैं कि क्लब आगे बढ़े और कुछ नया दिखाए। उन्होंने आगे बताया कि सीएम ममता की मूर्ति बनाकर दुर्गा पंडाल में लगाने का आइडिया उनका ही था। ममता बनर्जी की तारीफों में कसीदे पढ़ते हुए उन्होंने कहा कि वह बंगाल, बंगाल के लोगों, बंगाली समाज के लिए 'कन्याश्री', 'जुबोश्री', 'स्वास्थ्य साथी’, 'लखीर भंडार' जैसी योजनाएं लाई हैं। किसी भी मुख्यमंत्री ने समाज के लिए इस तरह से काम नहीं किया है। जो भी प्रोजेक्ट ममता लेकर आई हैं, वह कोई नहीं लाया।
गौरतलब है, मां दुर्गा के बराबर में लगाई जाने वाली ममता बनर्जी की मूर्ति के दस हाथों में हथियार की बजाय उनके द्वारा शुरु की गई परियोजनाओं का चित्रण किया जाएगा।
मिंटू पाल ने बताया कि नवदुर्गा पंडाल के आयोजक दीदी की सरकार द्वारा शुरु की गई विकास परियोजनाओं के विषय में लोगों को बताना चाहते हैं। उन्होंने आगे बताया कि पंडाल में कार्तिक, गणेश, लक्ष्मी, सरस्वती की अन्य मूर्तियों को छोटे बच्चों के माध्यम से दिखाया जाएगा और छोटी दुर्गा मां की मूर्ति की पूजा होगी।