काले रंग और काले धागे का ज्योतिष में है खास महत्व

राजतिलक शर्मा,आईआईएमटी न्यूज, ग्रेटर नोएडा



काले रंग और काले धागे को अक्सर टोना-टोटका से जोड़ा जाता रहा है। लेकिन हमेशा ऐसा नहीं होता है। वैदिक ज्योतिष में काले धागे का भी विशेष महत्व है। अक्सर घरों में महिलाओं को देखा जाता है कि अगर किसी बच्चे को नजर लग जाती है तो महिला बच्चे के हाथ, पेर या गले में काला धागा पहना देती है। लेकिन सबसे बड़ा सवाल यह है कि काला धागा क्या हर कोई व्यक्ति पहन सकता है। ज्योतिष में काला धागा पहने के लिए भी नियम बनाए गए हैं। वैदिक ज्योतिष के अनुसार मेष और वृश्चिक राशि के जातक को काला धागा नहीं पहना चाहिए। यदि यह लोग काला धागा पहनते हैं तो इनके जीवन में परेशानियां आ सकती हैं। अगर मेष और वृश्चिक जातक वाले काला धागा पहनते हैं तो यह लोग निर्णय लेने असहज होते हैं। इन लोगों के मन में बैचेनी का भाव हमेशा बना रहता है। काला धागा इनके जीवन में असफलता का कारण भी बनता है। ज्योतिष में कहा गया कि इस प्रकार के जातक को काला धागा नहीं पहना चाहिए। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार 12 राशियों में से केवल दो राशियां (मेष,वृश्चिक) ही ऐसी है जिनके जिनके लिए काला धागा अनूकूल नहीं माना जाता है। दूसरी तरफ तुला, मकर और कुंभ राशि के जातकों के लिए काला धागा बहुत ही शुभ माना गया है। ज्योतिष में तुला शनि की उच्च राशि है। वहीं मंकर और कुंभ राशि का मालिक शनि है। इन राशियों के जातकों के लोगों को काला धागा पहनने से रोजगार में तरक्की मिलती है। वहीं काला धागा धारण करने से इन लोगों के जीवन में गरीबी और दरिद्रता दूर होती है। धीरे- धीरे इनके जीवन में धन का प्रवाह होने लगता है।