हाथी से उतरकर साइकिल पर सवार हुए मुख्तार के भाई और अंबिका चौधरी

आईआईएमटी न्यूज डेस्क, ग्रेटर नोएडा




उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनावों को लेकर सभी दलों ने तैयारियां तेज़ कर दी हैं। इस वक्त सभी दल राजनीतिक समीकरण बिठाने के लिए पुरजोर कोशिश में लगे हुए हैं। इसी बीच पूर्वांचल की गद्दी के बड़े चेहरे बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी के बड़े भाई सिक्बातुल्लाह अंसारी और उनके बेटे मुन्नू अंसारी ने समाजवादी पार्टी का दामन थाम लिया है। शनिवार को समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की मौजूदगी में सिक्बातुल्लाह अंसारी ने सपा की सदस्यता ली। इसके अलावा अंबिका चौधरी भी सपा में शामिल हो गए हैं। बता दें, माफिया मुख्तार अंसारी के भाई सिक्बातुल्लाह गाजीपुर की मोहम्दाबाद सीट से 2007 में पहले भी सपा से विधायक रह चुके हैं। इसके भाद 2012 में उन्होंने कौमी एकता दल का गठन करके विधायकी का चुनाव लड़ा और भारी मतों से विजयी हुए थे। लेकिन 2017 में उन्होंने बसपा की टिकट से चुनाव लड़ा पर कुछ खास कमाल नहीं दिखा पाए और हार गए। वहीं, मुलायम सिंह यादव और अखिलेश यादव की कैबिनेट में मंत्री रह चुके अंबिका चौधरी ने 2017 में सपा का साथ छोड़कर मायावती का दामन थाम लिया था। कुछ महीने पहले बसपा से इस्तीफा देते हुए उन्होंने मायावती को लिखा था कि 2019 लोकसभा चुनाव में उन्हें छोटा या बड़ा कोई दायित्व नहीं सौंपा गया। इसके कारण वह पार्टी में खुद को उपेक्षित और अनुपयोगी महसूस कर रहे थे। सपा की सदस्याता लेते वक्त अंबिका चौधरी भावुक हो गए जिसके बाद उन्हें अखिलेश यादव ने सांत्वना दी।
अब यह देखना दिलच्सप होगा कि अखिलेश यादव का यह फैसला कितना कारगर साबित होगा। क्या विधानसभा चुनावों में उनके इस निर्णय से बढ़त हांसिल होगी।