रामलला के नाम पर वोट के साथ नोट भी लिया गया- बसपा सांसद सतीश चंद्र मिश्रा

आईआईएमटी, न्यूज, ग्रेटर नोएडा




जैसे-जैसे चुनाव की तारीख नज़दीक आ रही है वैसे-वैसे उत्तर प्रदेश की राजनीति में गर्मा-गर्मी बढ़ती जा रही है। ब्राह्मणों को अपनी ओर आकर्षित करने के लिए इन दिनों बसपा ऐंड़ी-चोटी का ज़ोर लगा रही है। ऐसा ही एक मंजर बीते दिन बांदा में देखने को मिला। यहां बसपा द्वारा आयोजित प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन में राज्य सभा सांसद सतीश चंद्र मिश्रा पहुंचे हुए थे। इस दौरान उन्होंने भारतीय जनता पार्टी पर जमकर हमला बोला। उन्होंने बीजेपी पर ब्राह्मणों को बहकाने का आरोप लगाया है। मिश्रा ने कहा, रामलला के नाम पर वोट के साथ नोट भी लिया गया। राम मंदिर के नाम पर अयोध्या में कुछ नहीं हुआ। उन्होंने आगे कहा कि बीजेपी मंदिर के नाम पर 1993 से पैसा इकट्ठा कर रही है, लेकिन वो पैसा गया कहां?
इसके अलावा सतीश चंद्र मिश्रा ने गैंगस्टर विकास दुबे के एनकाउंटर को लेकर सरकार की भूमिका पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने कहा कि सरकार ब्राह्मणों का सबसे अधिक अहित करने में लगी है। विकास दुबे को फर्जी एनकाउंटर में मार दिया। न कोई मुकदमा न कोई पेशी सीधे गोली मार दी। वहीं, बसपा सांसद ने बिकरु कांड में शामिल खुशी दुबे पर चर्चा करते हुए कहा कि 16 साल की नाबालिग लड़की खुशी दुबे को भी उठा ले गए, जेल में रखने के बाद रिमांड में भेज दिया, बेल नहीं होने दी, फर्जी सर्टिफिकेट लगा कर बेल खारिज करा दी।
गौरतलब है, इन दिनों यूपी के सियासत में हर कोई अपनी-अपनी राजनीति चमकाने की कोशिशों में लगा हुआ है। ज्यादातर पार्टियां इस बार विकास के नाम पर प्रचार की जगह धर्म और जाति के नाम पर जनता को बहकाने की कोशिश में लगी हुई हैं।