संसद में योगी ने दिया साढ़े चार सालों का हिसाब, कहा- अब यूपी में हो रहा सबसे अधिक निवेश

आईआईएमटी न्यूज़ डेस्क,ग्रेटर नोएडा



उत्तर प्रदेश विधानमंडल के मानसून सत्र की बैठक में आज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रतियोगी छात्रों व युवाओं के लिए धमाकेदार घोषणा की है। उन्होंने कहा है कि प्रदेश के 1000 हज़ार युवाओं को सरकार लैपटॉप व टैब देगी। इसी के साथ प्रतियोगी परीक्षाओं में भाग लेने वाले प्रतिभागियों को प्रदेश की सरकार भत्ता मुहैया कराएगी। इस दौरान मुख्यमंत्री ने कई अन्य घोषणाएं की, प्रदेश में चल रहे विकास कार्यों को लेकर सीएम योगी ने बताया कि पिछले पांच सालों में राज्य का बजट दोगुना हो गया है। उन्होंने दावा किया कि 24 करोंड़ की आबादी वाले इस राज्य में ढाई लाख का बजट ऊंट के मुंह में जीरा के समान था जिसकी वजह से उत्तर प्रदेश अर्थव्यवस्था के मानकों में हमेशा पिछड़ा ही रहता था लेकिन अब यूपी में सबसे अधिक निवेश होने लगा है। इसके अलावा उन्होंने पर्यटन, बिजली और कानून व्यवस्था जैसे मुद्दों पर चर्चा की।
सीएम ने बताया कि यूपी में पर्यटन या टूरिज्म को बढ़ावा देने के लिए भगवान कृष्ण के ब्रजधाम, भोलेनाथ की नगरी काशी और राजा राम की अयोध्या का विकास किया जा रहा है। उन्होंने पिछली सरकारों पर तंज कसते हुए कहा कि पहले भगवान राम, कृष्ण और महादेव का नाम लेना सांप्रदायिक माना जाता था पर अब खुद को रामभक्त साबित करने की होड़ लगी हुई है। यह हमारी जीत है। यही नहीं, उन्होंने कुंभ मेले के आयोजन पर चर्चा करते हुए कहा कि पहले भी कुंभ का भव्य आयोजन हो सकता था पर सरकारें डरती थीं कि कुंभ के लिए कुछ कर देंगे तो टोपी लगाकर मुबारक बात नहीं दे पाएंगे।
वहीं, मुख्यमंत्री य़ोगी ने सरकार की उपलब्धियों को गिनवाते हुए बताया कि भारतीय जनता पार्टी के पिछले साढ़े चार साल के कार्यकाल में प्रदेश के 2 करोंड़ 94 लाख लोगों को बिजली का कनेक्शन दिया गया है जबकि 3 करोंड़ 94 लाख लोगों को रसोई गैस मुहैया कराई जा चुकी है।
बता दें, प्रदेश सरकार पर बेरोजगारी और रोजगार न देने के आरोपों का खंडन करते हुए सीएम योगी ने दावा किया कि उनकी सरकार में साढ़े चार लाख से अधिक सरकारी नौकरियां दी जा चुकी हैं। उन्होंने बताय़ा कि अकेले शिक्षा विभाग में माध्यमिक, उच्च व तकनीकी शिक्षा में डेढ़ लाख शिक्षकों को नियुक्त किया गया है।
इस सबके बीच सीएम योगी ने प्रदेश की कानून व्यवस्था के विषय पर बताया कि पिछले साढ़े चार साल में सूबे की कानून व्यवस्था में खासा सुधार हुआ है। माफियाओं की संपत्ति जब्त ही नहीं की है बल्कि ध्वस्त भी हुई है। उन्होंने बताया कि अब इन जब्त की गई संपत्तियों पर गरीबों के लिए आवास का निर्माण कराया जाएगा।